‘विश्व डाक दिवस’ पर पटना जीपीओ में हुआ कार्यक्रम का आयोजन

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| विश्व डाक दिवस के अवसर पर शनिवार 9 अक्टूबर को पटना जीपीओ. में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि निदेशक, डाक सेवाएँ, बिहार सर्किल, पटना पंकज कुमार मिश्र ने कहा कि पूरा देश “आज़ादी का अमृत महोत्सव” मना रहा है. ऐसे में राष्ट्रीय डाक का महत्त्व और बढ़ जाता है.

मिश्र ने कहा कि ‘डाक सेवा-जन सेवा’ की भावना के तहत बिहार डाक परिमंडल अपने कर्मचारियों के माध्यम से मानवता की सेवा करना जारी रखा है. उन्होंने कहा कि डाकिया और ग्रामीण डाक सेवक समाज के वंचित समूहों के लाभ के लिए सरकार के उत्पादों एवं सेवाओं को वितरित करते रहे हैं.

उन्होंने कहा कि मेल और डाक वस्तुओं के वितरण के अलावा, वे लोगों के लिए आवश्यक दवाओं, चिकित्सा संस्थान के लिए उपकरण और यहां तक ​​कि जरूरतमंद लोगों को भोजन, राशन के साथ-साथ एईपीएस के तहत नगद राशि का भुगतान ग्राहकों के दरवाजे पर जाकर करते रहे हैं.

शनिवार के कार्यक्रम में स्वयंसेवी संस्थान के 15 अतिथियों का भी स्वागत किया गया. मुख्य अतिथि के द्वारा नव नियुक्त डाक जीवन वीमा अभिकर्ता के बीच एजेंट कोड का वितरण किया गया. साथ ही पर्यावरण के सुरक्षा हेतु स्वचालित विधुत स्कूटी द्वारा पटना शहर में डाक वितरण का शुभारम्भ निदेशक डाक सेवाएँ (मु.), भारतीय डाक सेवा, बिहार डाक परिमण्डल कार्यालय ,पटना द्वारा हरी झंडी दिखाकर किया गया. पटना जीपीओ बिल्डिंग, जो एक हेरिटेज भवन है, को डाक दिवस के मद्देनजर रंग-विरंग प्रकाश से सजाया गया था.

यह भी पढ़ें| अब फिर से सजीव होंगे महाराजा: शरद यादव

इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में पवन कुमार, निदेशक पूर्वी प्रक्षेत्र, भागलपुर और नम्रता कुमारी, उप प्राचार्य, महिला इंटर कॉलेज उपस्तिथि रही. साथ ही पटना ज़ीपीओ के चीफ पोस्टमास्टर, राश बिहारी राम, उप-चीफ पोस्टमास्टर, मनोज कुमार एवं अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद थे.

बताते चले, आज का दिन विश्व डाक दिवस (World Post Day) के रूप में मनाया जाता है. इसके उपलक्ष्य में 9 अक्टूबर 2021 से 16 अक्टूबर 2021 तक राष्ट्रीय डाक दिवस मनाया जायेगा, जिसमें 11 अक्टूबर 2021 बैंकिंग दिवस के रूप में, 12 अक्टूबर 2021 डाक जीवन वीमा के रूप में, 13 अक्टूबर 2021 फिलाटेली एवं व्यवसाय विकास दिवस के रूप में एवं 16 अक्टूबर 2021 को मेल्स दिवस के रूप में मनाया जायेगा.