बेऊर जेल के कैदियों ने धरना कर कहा – हमें भी मिलाओ परिजनों से

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| गुरुवार सुबह पटना (Patna) के बेउर आदर्श कारा (Model Central Jail, Beur, Patna) में बंद लगभग 2000 कैदियों व उनके परिजनों ने धरना-प्रदर्शन किया. उनकी मांग थी कि जेल में बंद कैदियों को उनके परिजनों ( Relatives of Prisoners) से मिलने की अनुमति दी जाए. सरयू खंड (Saryu Ward) के नजदीक धरना पर बैठे कैदियों ने जेल प्रशासन के खिलाफ नारे भी लगाए.

धरना की सूचना मिलते ही बेउर आदर्श कारा के जेल सुपरिटेंडेंट जितेंद्र कुमार (Jail Superintendent Jitendra Sing) भागे-भागे धरनास्थल पर पहुंचे. उसके बाद उन्होंने जेल आईजी (Jail IG) से इस संबंध में बात की. जेल आईजी ने कैदियों व उनके परिजनों द्वारा की गई मांग को पूरा करने का आश्वासन दिया. जेल सुपरिटेंडेंट जितेंद्र कुमार ने धरना की पुष्टि करते हुए बताया कि कैदियों की मांग पूरी होने के बाद उन्होंने अपना धरना समाप्त कर दिया गया है.

इसके पहले, धरने पर बैठे परिजनों का कहना था कि जब बिहार समेत पूरे देश में कोरोना संक्रमण अब नहीं के बराबर है, सभी चीजों को खोल दिया गया है, तो जेलों में बंद कैदियों को उनके परिजनों से मुलाकात क्यों नहीं करने दिया जा रहा है.

कैदियों का कहना था कि सर्दियाँ शुरू होने को है और ऐसे में उन्हें गर्म कपड़ों की जरूरत है. अपने परिजनों से फिज़िकल मुलाकात न होने की वजह से उन्हें गरम कपड़े नहीं मिल पा रहे हैं. साथ ही, बाहर का खाना भी उन्हें नसीब नहीं हो पा रहा है.

यह भी पढ़ें| तेजस्वी ने नीतीश सरकार को बताया ’76 घोटालों की सरताज सरकार’

कैदियों ने बताया कि दुर्गा पूजा (Durga Puja) के पहले उनके द्वारा जेल प्रशासन को फिजिकल मुलाकात, गरम कपड़ा और खाना को लेकर लिखित आवेदन दिया गया था. जेल प्रशासन द्वारा उनकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन भी दिया गया लेकिन अभी तक इस मामले में कुछ नहीं हुआ.

बता दें, पिछले साल देश व राज्य में कोरोना संक्रमण के चलते जेलों में बंद कैदियों को उनके परिजनों से फिजिकल मुलाकात नहीं कराई जा रही थी, जो अभी तक शुरू नहीं की गई. इस मामले में बेऊर जेल प्रशासन और स्थानीय प्रशासन द्वारा परिजनों को कोरोना गाइडलाइंस के नियम का हवाला दिया जा रहा है. अब जबकि संक्रमण काफी कम, या यूं कहें, लहभग नगण्य हो गया है, उसके बावजूद कैदियों को उनके परिजनों से मिलने नहीं दिया जा रहा है. इसी के कारण परिजन काफी नाराज थे.

बता दें, बिहार के सभी जिले के जेल सुपरिटेंडेंटों को जेल प्रशासन द्वारा सीधी मुलाकात को लेकर तैयारी करने का निर्देश दिया गया था. उम्मीद भी जताई जा रही थी कि जल्द ही सीधी मुलाकात की व्यवस्था लागू होगी, लेकिन अभी तक शुरू नहीं हो सका है.

बहरहाल, बेउर जेल के सुपरिटेंडेंट के अनुसार जेल आईजी ने कैदियों की मांगों को मांग लिया है और जल्द ही फिजिकल मुलाकात और गर्म कपड़ों का आदेश जारी हो जाएगा. आदेश मिलते ही आज गुरुवार से ही कैदियों को उनके परिजनों से फिजिकल मुलाकात करने की अनुमति दी जाएगी. साथ ही, उन्हें गर्म कपड़े भी मिलने लगेंगे. जेल सुपरिटेंडेंट जितेंद्र कुमार के अनुसार अब कैदियों व उनके परिजनों ने अपना धरना खत्म कर दिया है.