कुल 46 तबलीगी जमातियों को दबोचा बिहार पुलिस ने

पटना (TBN रिपोर्ट) :- देशभर में अलग अलग राज्यों से तबलीगी जमात से जुड़े हुए लोगों में लगातार कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने से, सरकार के लिए सबसे बड़ी चिंता का कारण बन गया है. बिहार में भी तबलीगी जमात के लोगों से कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए, तबलीगी मरकज में शामिल होने वाले जमातियों की सूची जारी होने के बाद पुलिस प्रशासन के द्वारा कार्यवाई करते हुए बिहार में 46 तबलीगी जमात से जुड़े हुए लोगों को दबोचा है.

इनमे से 11 तबलीगी जमातियों को वीजा के नियमों का उल्लंघन करते हुए गैर कानूनी तरीके से भारत में प्रवेश करने के आरोप में भी गिरफ्तार किया गया है. इन सभी तबलीगियों को पटना, अररिया और बक्सर जिले से गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किये गए तबलीगी जमात से जुड़े लोगों में बांग्लादेश, इंडोनेशिया और मलेशिया के लोग भी शामिल हैं.

इस मामले में मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने बताया कि, “पटना से 17, अररिया जिले से 18 और बक्सर जिले से 11 तबलीगियों  को मस्जिदों और मदरसे से गिरफ्तार किया गया था. जिनमे बांग्लादेश के 9, मलेशिया के 9 और इंडोनेशिया के 7 तब्लीगी जमात से जुड़े लोग शामिल हैं. पुलिस ने इन लोगों की कोरोना की जांच के दौरान कोरोना निगेटिव पाए जाने के बाद वीजा के नियमों का उल्लंघन करने के मामले में जेल भेजा दिया है.

एसएसबी की ओर से दी गयी खुफिया जानकारी के अनुसार बिहार से सटे नेपाल की सीमा का इस्तेमाल भारत में कोरोना संक्रमित लोगों को लाने के लिए किया जा सकता है. जिसके बाद से भारत-नेपाल सीमा पर हड़कंप की स्थिति हो गयी और बिहार सरकार के होश उड़े हुए हैं. एसएसबी की तरफ से अलर्ट जारी होने के नेपाल से सटे बॉर्डर इलाकों चौकसी बढ़ाते हुए कड़ी निगरानी रखी जा रही थी

इस मामले के बारे में जानकारी देते हुए बक्सर पुलिस कप्तान उपेंद्र नाथ वर्मा ने बताया कि, “तबलीगी जमात से जुड़े 11 लोगों को बक्सर के नया भोजपुर के एक मदरसे से पकड़ा गया था. पुलिस टीम की ओर से उनको 14 दिनों की क्वारंटाइन में भी रखा गया. किसी को भी कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं. सभी तब्लीगी फिलहाल पूरी तरह स्वस्थ हैं. ये सभी 11 लोग विदेशी तब्लीगी हैं. इनलोगों में 4 मलेशिया और 7 लोग इंडोनेशिया के शामिल हैं.  इनलोगों ने गलत रूप से वीजा का प्रयोग किया है. वीजा के नियमों का उल्लंघन करने के मामले में इन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है”.

error: Content is protected !!