पटना: पुलिस संस्मरण दिवस मनाया गया, शहीद पुलिसकर्मियों को दी गई श्रद्धांजलि

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| आज सुबह राजधानी पटना के BMP-5 में पुलिस संस्मरण दिवस (National Police Remembrance Day) के दिन स्मृति परेड (Smriti Parade) का आयोजन मनाया गया. इस समारोह में राज्य के डीजीपी सहित सीनियर आईपीएस अधिकारियों ने भाग लिया. सबों ने ड्युटी के दौरान अपने जीवन की शहादत देने वाले वीर पुलिस जवानों को श्रद्धांजलि दी.

बता दें, हर साल 21 अक्टूबर को पुलिस संस्मरण दिवस मनाया जाता है. इस दिन देश की सुरक्षा में लगे हुए जवानों की शहादत को याद किया जाता है और स्मृति परेड का आयोजन किया जाता है.

पिछले साल बिहार में कुल 35 पुलिसकर्मी अजबकि देश भर में 377 पुलिसकर्मी पनी ड्यूटी के दौरान शहीद हुए. BMP-5 में आयोजित इस अवसर पर शहीद हुए इन सभी अर्धसैनिक बल और पुलिस के जवानों को श्रद्धांजलि दी गई. इस अवसर पर डीजीपी एसके सिंघल (S K Singhal Bihar DGP) ने बताया कि सुरक्षा और अपराधियों से मुठभेड़ के दौरान बिहार के 7 पुलिसकर्मी शहीद हुए हैं.

यह भी पढ़ें| कमिश्नर के पति ने पूर्व मंत्री की बेटी से की धक्का मुक्की

उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना संक्रमण के दौरान कोरोना ड्यूटी पर तैनात 28 पुलिसकर्मी की मृत्यु हुई है. सरकार इन सभी को भी शहीद के रूप में माना है. कोरोना ड्यूटी के दौरान मृत्यु को प्राप्त हुए इन 28 पुलिसकर्मी को भी

क्यों और कब से मनाया जाता है

पुलिस संस्मरण दिवस मनाने के पीछे एक विशेष कारण भी है. दरअसल, सन 1959 में लद्दाख (Laddakh) की बर्फीली चोटियों पर भारतीय जवानों (Indian Army) पर चीनी सैनिकों (Chinese Army) द्वारा हमला कर दिया था. देश की सुरक्षा में लगे हमारे वीर जवानों ने चीन के इस हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया. लेकिन इस दौरान की हमारे देश के वीर जवान शहीद हो गये थे.

उसके बाद सन 1961 में भारत सरकार ने यह फैसला लिया कि उन शहीदों की याद में हर साल शहीद होने वाले अर्धसैनिक और पुलिस बल के शहादत को 21 अक्टूबर को पुलिस संस्मरण दिवस के रूप में मनाया जाएगा.