सोमवार को सीएम के सामने सेल्स रिप्रेजेंटेटिव्स यूनियन करेगा रैली व प्रदर्शन

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार झारखंड सेल्स रिप्रेजेंटेटिव्स यूनियन (Bihar Jharkhand Sales Representatives Union) ने सोमवार 19 सितंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने विशाल रैली और प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है. विभिन्न मांग को लेकर यह प्रदर्शन किया जाना है.

रविवार को यूनियन (BJSRU) के वक्ताओं ने एक प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित करते हुए कहा कि कई मांगों को लेकर यह रैली और प्रदर्शन की जाएगी. यूनियन की वैधानिक मांगों में – सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक का कार्य-समय, प्रति महीने 26000 का न्यूनतम वेतन, राज्य सरकार द्वारा SPE Act’1976 को सख्ती से लागू करने, छः माह के मातृत्व अवकाश, पीएफ, बोनस एक्ट, ग्रेच्युटी एक्ट, ESI इत्यादि सामाजिक सुरक्षा शामिल हैं.

यूनियन के महासचिव शशि प्रकाश ने कहा कि लम्बे संघर्ष के बाद यूनियन ने राज्य सरकार से अपने लिए विशेष कानून सेल्स प्रमोशन एम्प्लॉइज एक्ट 1976 सेवा शर्त बनाने में सफल हुए. परन्तु आश्चर्य यह है कि अभी तक इसे ठीक ढंग से लागू नहीं किया गया है.

मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सेवा शर्त को लागू करने में राज्य सरकार विफल रही है. यूनियन ने मांग की है कि सेल्स प्रमोशन एम्प्लॉइज एक्ट 1976 सेवा शर्त को पूरे राज्य में सख्ती से लागू किया जाय.

यह भी पढ़ें| असुरक्षित नीतीश कुमार को ऐसे फांसा लालू ने..!

यूनियन के अनुसार, लम्बे संघर्ष के बाद राज्य सरकार ओद्योगिक विवाद अधिनियम 1947 के सेक्सन 2-एस के तहत सेल्स-प्रमोशन एम्प्लाई को कामगार के दर्जा घोषित करने को बाध्य हुई, लेकिन आज भी इस वैधानिक अधिकार का खुलेआम उल्लंघन करते हुए विभिन्न कंपनियों के मैनेजमेंट द्वारा सेल्स प्रमोशन एम्प्लाई की छटनी, उनके वेतन में कटौती, उनका गैर कानूनी तबादला किया जा रहा है. यूनियन ने न्यूनतम मजदूरी प्रतिमाह 26000 रूपया की मांग भी की है.

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को यूनियन के महासचिव शशि प्रकाश, उपाध्यक्ष देवशीष राय, सचिव मनोज कुमार चौधरी सहित अन्य ने सम्बोधित किया. यहां देखिए प्रेस कॉन्फ्रेंस में सबने क्या कहा –