‘कोई परिवार भूखा न सोए’ मुहिम, जरूरतमंद लोगों को दी गई राहत सामग्री

पश्चिम चंपारण (TBN रिपोर्ट) | लॉकडाउन के दौरान एक अच्छी तस्वीर पश्चिम चंपारण जिला से सामने आई है. जहां बीते 47 दिनों से लगातार गरीब जरूरतमंद परिवारों के बीच खाद्य सामग्री का वितरण किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि बगहा तिरुपति चीनी मिल के एमडी और बीजेपी नेता दीपक यादव की ओर से कोई परिवार भूखा न सोए मुहिम के तहत गांव – गांव सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखते हुए जरूरतमंद लोगों में राहत सामग्री वितरित की जा रही है .

वैश्विक महामारी के बीच टीम दीपक यादव के अनूठी पहल की सराहना करते ग्रामीण बेहद खुश हैं और यहीं वजह है कि लगातार इन 47 दिनों में 15 हज़ार से अधिक जरूरतमंद लोगों में राशन किट बांटा जा चुका है . आज नक्सल प्रभावित इलाकों में सुमार सेमरा के बलकहवा गांव के दो सौ से अधिक लोगों में राहत पैकेट वितरण किया गया.

आपको बताएं की तिरुपति चीनी मिल के इस राहत पैकेट में नौ तरह की ज़रूरी सामग्रियां हैं जिनमें साबुन, तेल के साथ आलू प्याज और चावल भूंजा भरी 15 किलो की पैकेट प्रति व्यक्ति दिए जा रहे हैं. कोरोना महामारी तक अनवरत जारी रहने वाली इस मुहिम में कोई परिवार भूखा न सोए यह स्लोगन दिया गया है. जिसके तहत तिरुपति चीनी मिल गोदाम में दर्जनों मजदूरों को राहत सामग्री पैकिंग में रोजगार मुहैया कराई गई है .

तिरुपति चीनी मिल के जीएम बीके त्रिपाठी के साथ टीम दीपक के सदस्य रविकेश पाठक, स्थानीय मुखिया कृष्णा चौधरी, आजाद खान और चीनी मिल कर्मी भी मौजूद रहे . नक्सल प्रभावित सेमरा थाना क्षेत्र के चिउटहा ओपी बैराटी बरियरवा के लोग इस पहल की सराहना करते दीपक यादव को मसीहा बता रहे हैं जिन्होंने सरकारी व्यवस्था के बाद पहले ऐसे शख़्स हैं जो आम लोगों के घरों पर राहत सामग्री लेकर पहुंच रहे हैं .