“मेरे बात की गलत व्‍याख्‍या की गई” : पटना SSP की सफाई

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| पटना के एसएसपी ने पीएफआई (PFI) और आरएसएस (RSS) के बीच कथित तुलना को लेकर उपजे विवाद पर अपनी सफाई दी है. उन्होंने कहा है कि मेरी कही बात की गलत तरीके से व्‍याख्‍या की गई है.

बुधवार को एक संदिग्ध आतंकी मॉड्यूल के भंडाफोड़ के बारे में जानकारी देते हुए पीएफआई और आरएसएस के बीच कथित तुलना (Alleged comparison between PFI and RSS by Patna SSP) को लेकर पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्‍लो (Manavjit Singh Dhillon) विवाद में घिर गए हैं. एसएसपी की टिप्‍पणी की राज्य बीजेपी के कुछ नेताओं ने आलोचना की थी.

शुक्रवार को इस मामले में सफाई देते हुए ढिल्‍लो ने कहा, “मेरी कही बात की गलत तरीके से व्‍याख्‍या की गई. मैं पहले ही यह स्‍पष्‍ट कर चुका हूं. दरअसल कल प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में एक पत्रकार ने सवाल किया था कि इस इस ग्रुप (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया या पीएफआई) की कार्यशैली क्‍या है. हमारे पास जो डाक्‍यूमेंट आए हैं और जो इंट्रोग्रेशन रिपोर्ट राइटिंग और रिकॉर्डिंग में है ओर जो कोर्ट के समक्ष भी पेश की गई है, उसमें एक संस्‍था का नाम लेते इस कार्यशैली का जिक्र किया गया था. यह बताया गया था कि यह कार्यशैली वे अपना रहे थे. इसमें किसी भी तरह से दो संगठनों की तुलना करने का कोई उद्देश्‍य नहीं था और यह निरर्थक बात है.”

बता दें, पटना पुलिस ने बुधवार को राजधानी के फुलवारीशरीफ़ थाना क्षेत्र से एक संदिग्ध आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था. इस मामले में कार्यवाई करते हुए पटना पुलिस ने चरमपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से जुड़े तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस द्वारा इस भंडाफोड़ के बाद एक प्रेस कांफ्रेंस की गई थी जिसमें पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो का बयान सुर्खियों में आया था और इसके लिए बीजेपी के कुछ नेताओं ने इस पुलिस अधिकारी ने आलोचना की थी.

प्रेस कांफ्रेंस में एसएसपी ने कहा था, ‘जिस तरह आरएसएस की शाखा में शारीरिक प्रशिक्षण दिया जाता है, वैसे ही पीएफआई में भी फिजिकल ट्रेनिंग दी जा रही थी.’ एसएसपी ने कहा कि जिस तरह आरएसएस अपनी शाखा का आयोजन करते हैं जिसमें लाठी चलाने की ट्रेनिंग दी जाती है, वैसे ही पीएफआई शारीरिक प्रशिक्षण के नाम पर युवाओं को ट्रेनिंग दे रहे थे और अपने एजेंडा और प्रोपगैंडा के तहत युवाओं का ब्रेनवॉश कर रहे थे.

यह भी पढ़ें| पटना पुलिस ने PFI से जुड़े संभावित आतंकी मॉड्यूल का किया भंडाफोड़, दो गिरफ्तार

एसएसपी के इसी बयान को लेकर बीजेपी के गिरिराज किशोर सहित कुछ नेताओं ने तीखे तेवर दिखाए थे. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर कहा था, ”RSS मतलब राष्ट्र प्रेम..RSS मतलब राष्ट्र कल्याण..RSS मतलब देश सेवा..RSS मतलब जनकल्याण ..RSS मतलब मानवता और सौहार्द्र..RSS मतलब संविधान के हिमायती. देश और दुनिया का हर समझदार व्यक्ति इस बात को जानता है, सिवाय कुछ “एजेंडावादियों और तुष्टिकरण” के पैरोकारों के.”