कैप्टन मोनिका खन्ना, जिसने बचाई 185 यात्रियों की जान

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| स्पाइसजेट लिमिटेड की बेहतरीन महिला पायलट मोनिका खन्ना की आज हर तरफ तारीफ हो रही है. मोनिका ने रविवार को पटना-दिल्ली Spicejet Boeing 737 विमान पर सवार 185 यात्रियों की जान बचाई थी.

बता दें, रविवार को पटना-दिल्ली SpiceJet Boeing 737 विमान को पटना एयरपोर्ट से उड़ने के तुरंत बाद इमरजेन्सी लैन्डिंग हुई थी. कारण था बर्ड-हिटिंग जिसके चलते विमान के बाएं इंजन में आग लग गई थी. आग तेजी से प्लेन के अन्य हिस्सों में फैलने लगी, मगर अपनी सूझ-बूझ से इस विमान की पायलट इन कमांड कैप्टन मोनिका खन्ना ने लोगों की जान बचा ली.

मोनिका खन्ना ने एक जिम्मेदार और अनुभवी कैप्टन की तरह फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग कराई, जिसके चलते प्लेन में यात्रा कर रहे यात्रियों और को-पायलट को सुरक्षित बचाया जा सका.

जैसे ही फ्लाइट पक्षी से टकराया, इसमें आग लग गई. आग लगते ही मोनिका ने तुरंत फ्लाइट के बाएं इंजन को बंद कर दिया और बगैर किसी हड़बड़ी के दिल्ली के लिए रवाना हो चुके विमान को दोबारा एयरपोर्ट पर सुरक्षित लैंड करा लिया.

पटना एयरपोर्ट पर आते ही तालियां बजने लगीं. कुछ इस तरह से मोनिका के हौसलों को सलाम किया गया. इस दौरान खास बात है कि मोनिका ने यात्रियों को घबराने नहीं दिया.

यह भी पढ़ें| स्पाइसजेट के विमान में बीच हवा में लगी आग, इमरजेंसी लैंडिंग, सभी 185 यात्री सुरक्षित

मोनिका के साथ एक और महिला अफसर की भी दाद देनी पड़ेगी. एटीसी कंट्रोलर चंचला ने वो कर दिखाया जिसकी लोगों को आस थी. एटीसी कंट्रोलर चंचला भी मोनिका के साथ हौसला देती रहीं. चंचला के साथ बातचीत कर तुरंत प्लेन को लैंड कराने का निर्णय लिया गया था.

इंजन में आग लगने की जानकारी मिलने के बाद कैप्ट्न मोनिका खन्ना ने एटीसी से संवाद किया. इसके बाद विमान के बाईं इंजन को दोनों ने मिलकर तुरंत बंद करने का निर्णय लिया. इसके बाद प्लेन को लैंड कराना था.

विशेषज्ञों की मानें तो इन दोनों महिला अफसरों के बीच उस परिस्थिति में जिस तरह से आपस में बात कर तेजी से निर्णय लिया गया वह आने वाले दिनों में नए पायलट्स और एटीएस अफसरों के लिए उदाहरण है.

पटना जैसे मुश्किल रनवे वाले एयरपोर्ट पर दोनों अफसरों ने तुरंत विमान को उतार कर कमाल कर दिया. उनके सीनियर अफसर भी उन्हें शाबाशी दे रहे हैं.

लैंड करने से पहले मानकों के अनुरूप एक चक्कर लगाया गया. इस बीच यात्रियों की धड़कन बढ़ चुकी थी. रनवे पर पहुंचते-पहुंचते आग बुझ चुकी थी. सुरक्षित लैंडिंग के बाद एक तरफ लोगों ने राहत की सांस ली.

स्पाइसजेट के फ्लाइट ऑपरेशन के प्रमुख गुरचरण अरोड़ा ने कैप्टन मोनिका की प्रशंसा की है. उन्होंने कहा कि “मोनिका और उनके पायलट बलप्रीत सिंह भाटिया के साथ मिलकर बड़ी ही सूझबूझ और शांति के साथ विमान को रनवे से उतार दिया. दोनों ही पूरे समय शांत रहे और विमान को अच्छी तरह से संभाला. हमें हमारे अनुभवी अधिकारियों पर नाज है”.