मंत्री जी का गुस्सा सातवें आसमान पर, कहा निलंबन के बाद ही विधानसभा में रखेंगे कदम

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राज्य के मंत्री जीवेश मिश्रा (Bihar Minister Jivesh Mishra) गुरुवार को विधानसभा परिसर में पुलिस अधीक्षक और जिला मजिस्ट्रेट को रास्ता देने के लिए पुलिसकर्मियों द्वारा रोके जाने पर पुलिस पर भड़क गए और कर्मियों के निलंबन के बाद ही अंदर कदम रखने की कसम खाई.

उन्होंने कहा, “आप मुझे रोक रहे हैं, मैं सरकार हूं. जब डीएम और एसपी आते हैं, तो आप मुझे रोकते हैं और मुझे इंतजार कराते हैं. मैं कर्मियों के निलंबन के बाद ही विधानसभा में जाऊंगा.”

मामले पर गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद (Additional Chief Secretary, home department, Chaitanya Prasad) ने कहा कि पूरे मामले की जांच की जा रही है. उन्होंने कहा, ‘ऐसा नहीं हो सकता कि मंत्री डीएम या एसपी का सम्मान नहीं करते हैं, जरूर कोई मामला है. पूरे मामले की जांच की जा रही है. जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.’

इधर बिहार के पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल (SK Singhal, Director General of Police, Bihar) ने मीडिया को बताया कि मामले की जांच की जा रही है और सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है.

कार्य मंत्रणा समिति की हुई बैठक

बीजेपी मंत्री की गाड़ी को रोके जाने वाले मामले पर विपक्षी सदस्यों ने सदन में जबरदस्त हंगामा हुआ. वेल में खड़े होकर वे नारेबाजी करने लगे और मंत्री के लिए न्याय की मांग भी की.

इस मामले को लेकर विधानसभा में कार्य मंत्रणा समिति की बैठक (Business Advisory Committee meeting) विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के चेंबर में बुलाई गई. इस बैठक में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी, वरिष्ठ मंत्री विजेंद्र यादव सहित सभी दलों के नेता मौजूद थे.

मामले पर बोलते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा सदस्यों की गरिमा को नुकसान नहीं होने देने के साथ-साथ किसी को बेलगाम होने नहीं दिया जाएगा. हालांकि इस बैठक में कोई नतीजा नहीं निकल पाया. विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि कार्य मंत्रणा समिति की बैठक एक बार फिर होगी और उसमें इस मामले पर फैसला लिया जाएगा.

क्या था मामला

बता दें, गुरुवार को बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र का चौथा दिन था. सुबह के वक्त बीजेपी कोटा से सरकार में मंत्री जीवेश मिश्रा अपनी गाड़ी पर विधानमंडल परिसर की ओर जा रहा थे. उसी वक्त मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का काफिला गुजर रहा था जिसमें पीछे डीएम और एसपी की गाड़ी जा रही थी.

मुख्यमंत्री के काफिले के साथ डीएम और एसपी की गाड़ी को आगे निकालने के लिए पुलिसकर्मियों ने मंत्री जीवेश मिश्रा की गाड़ी रुकवा दी. इसी पर मंत्री जीवेश मिश्रा काफी गुस्सा हो गए. उन्होंने गाड़ी रोकने वाले पुलिस अधिकारी को संस्पेंड करने की मांग की. उन्होंने सदन में कहा, “डीएम बड़ा..एसपी बड़ा या मंत्री बड़ा – सरकार तय करे”.