नवादा सदर SDO के पक्ष में सड़क पर उतरे स्थानीय लोग

नवादा (TBN रिपोर्ट) :- भाजपा के विधायक अनिल सिंह को कोटा आने-जाने का पास जारी करने वाले नवादा के SDO को सस्पेंड कर दिया है. राज्य सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने नवादा के जिलाधिकारी को इस मामले की जांच का आदेश दिया था. जिसके बाद जिलाधिकारी की रिपोर्ट के आधार पर एसडीओ को सस्पेंड किया गया है. सदर अनुमंडल पदाधिकारी (SDO) अनु कुमार को निलंबित किये जाने को लेकर नवादा के लोगों ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया है

SDO अनु कुमार को निलंबित किये जाने के विरोध में बुंदेलखंड के लोगों ने काली पट्टी बांधकर सरकार के इस फैसले का विरोध जताया है. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मुहल्ले के लोगों ने आज सुबह एक सुर में इस फैसले का विरोध किया. लोगों ने कहा कि इस काम के लिए उन्हें दंडित किया जाना सही नहीं है.

मुहल्ले के लोगों ने जिलाधिकारी के ऊपर निशाना साधते हुए कहा कि, “इसके लिए नवादा के डीएम सबसे ज्यादा जिम्मेवार है. क्योंकि उनके कहने पर ही विधायक अनिल सिंह को एसडीएम अनु कुमार ने पास निर्गत किया था. उन्होंने ही एसडीएम को फोन कर पास बनाने के लिए कहा था. मगर इसका कोई लिखित आदेश नहीं था. इस कारण डीएम ने अपने अनुसंशा में उन्हें दोषी ठहराया. लोगों का यह भी कहना है कि इसके लिए विधायक भी दोषी है इसलिए वो भी सजा के बराबर के हक़दार हैं”.

बता दें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक अनिल सिंह अपनी बेटी को कोटा से बिहार लेकर आये थे. अनिल सिंह को आने जाने के लिए नवादा के एसडीओ ने पास निर्गत किया था. इसके बाद सियासी गलियारों में हलचल सी मच गयी थी. राष्टीय जनता दल समेत सभी विपक्षी पार्टियों ने राज्य सरकार पर खुलकर हमला बोला था. अब इस मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए नवादा के एसडीओ को निलंबित कर दिया है.