362 डॉक्टरों को शो कॉज नोटिस, ड्यूटी से थे गायब

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :-  बिहार में कोरोना को लेकर राज्य सरकार एकदम सतर्क है. वहीँ राज्य में लापरवाही और कानून का उल्लंघन करने वालों पर भी सरकार सख्ती से पेश आते हुए तुरंत कार्यवाई कर रही है. नीतीश सरकार ने तमाम स्वास्थ्य कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर रखी हैं. स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के द्वारा अचानक से किये गए निरीक्षण के दौरान बड़ी संख्या में डॉक्टर नदारद मिले. ऐसे में विभाग के द्वारा बड़ी कार्यवाई करते हुए बड़ी तादाद में डॉक्टरों को शो कॉज नोटिस जारी किया गया है.

राज्य में चल रही कोरोना महामारी की वजह से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन सख्ती अपनाते हुए अस्पताल और चिकित्सा सुविधाओं में कोई भी कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इसके तहत स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के द्वारा अचानक से किये गए निरीक्षण के दौरान तो लगातार 31 मार्च से 12 अप्रैल के बीच कुल 37 जिलों के 362 चिकित्सा पदाधिकारी ड्यूटी से गायब मिले. स्वास्थ्य विभाग ने इन सभी पर कार्रवाई करने से पहले  शो कॉज को जारी करते हुए जवाब मांगा है.

ज्ञात हो बिहार सरकार ने कोरोना संक्रमण के चलते राज्य के सभी डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ की छुट्टियां 31 मई तक कैंसल कर दी हैं.  स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त सचिव अनील कुमार की ओर से मिली जानकारी के अनुसार 30 अप्रैल तक सारी छुट्टियां कैंसल की गई थीं. जिसे अब सरकार ने एक महीने के लिए और बढ़ा दिया है. सभी जिलों के सिविल सर्जन, अधीक्षक और उपाधीक्षक को निर्देश जारी किया गया है.

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी निर्देश के अनुसार 13 मार्च और 5 अप्रैल को कोरोना वायरस को रोकने के लिए और निरोधात्मक उपाए को देखते हुए सभी मेडिकल अफसर, डॉक्टर्स की छुट्टियां रद्द की गई थीं. इसके साथ ही सरकार ने सभी स्वास्थ्यकर्मियों, संविदा नियोजित कर्मियों की भी छुट्टी कैंसल कर दी थी.