शराब बिक्री शुरू करने के खिलाफ अनिश्चितकालीन अनशन

पटना (TBN रिपोर्ट) | भारत इन दिनों कोरोना महामारी से जूझ रहा है. कोरोना के कारण लॉकडाउन के चलते सभी राज्यों में वित्तीय गतिविधियां बंद होने की वजह से हो रहे नुकसान को देखते हुए देश की कई राज्य सरकारों ने अतिरिक्त टैक्स लगाते हुए शराब की बिक्री शुरू की है.

लेकिन अब अखिल भारतीय अपराध विरोधी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनवंत सिंह राठौर शूरवीर महाराणा प्रताप की जयंती पर अपने आवास पर लॉकडाउन में केंद्र सरकार द्वारा शराब बिक्री शुरू करने के खिलाफ अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठ गए.

महाराणा प्रताप की तस्वीर पर माल्यार्पण करते हुए राठौर ने कहा कि आज कोरोना से आजादी की लडाई आज पूरा विश्व लड़ रहा है. भारत ने शुरू से लड़ाई लड़ने में अपनी ताकत झोंक दिया. लेकिन बीच लड़ाई के दौरान ही शराब की बिक्री शुरू कर सरकार लड़ाई को कमजोर कर रही है.

सरकार का यह निर्णय आज उन कोरोना योद्धाओं के मुंह पर तमाचा है, जो अपनी जान देश के लिये न्यौछावर कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज महाराणा प्रताप जैसे शूरवीर के आदर्शों पर चलकर ही हम देश में आयी इस विपदा का मुकाबला कर सकते हैं. सरकार इस निर्णय को जब तक वापस नहीं ले लेती है तब तक उनका अनशन जारी रहेगा.

इस अवसर पर प्रो. राजकुमार सिंह, इंद्रजीत प्रसाद, राहुल कुमार, मनोज कुमार सिंह, अजय कुमार सिंह, तन्मय राज, सोनू कुमार सिंह आदि ने महाराणा प्रताप के तस्वीर पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रदांजलि दी और केंद्र सरकार से लॉक डाउन में शराब की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की.

बता दें देशभर में कोरोना महामारी की वजह से हाहाकार मचा हुआ है. लॉकडाउन घोषित हो जाने से लोगों को बहुत सारी परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है. ऐसे में राज्य सरकारों ने असहाय, गरीबों और जरूरतमंद लोगों को मदद के लिए अभियान चलाया है.

सभी राजनीतिक दल और समाजसेवी संस्थाएं भी मदद के लिए आगे आयी हैं. वहीँ बिहार के विभिन्न राजनीतिक दलों ने नीतीश कुमार से राज्य में शराब की बिक्री शुरू कराने की मांग करते हुए कहा है कि शराब की बिक्री से पैसे के संकट से जूझ रही सरकार को पर्याप्त राशि मिल जायेगी. इस पैसे से सरकार कोरोना से त्रस्त गरीबों की मदद कर पायेगी.