जारी है राशन कार्ड बनवाने के नाम पर अवैध वसूली का खेल

भागलपुर (TBN रिपोर्ट) :- बिहार में कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन के दौरान  गरीबों और असहायों को खाने और राशन की परेशानियों से सामना न करना पड़े इसके लिए राज्य सरकार ने सभी जिला प्रशासन को आवश्यक निर्देश जारी कर दिए थे.

पहले सरकार के द्वारा राशन कार्ड वाले व्यक्ति को ही राशन के सामान की सुविधाएं मिल पाती थी वहीँ अब सरकार बिना राशन कार्ड के ही लोगों को अनाज बांट रही है. लेकिन अभी भी राशन कार्ड बनवाने के नाम पर लोगों से अवैध वसूली बदस्तूर जारी है.

हाल ही में भागलपुर के जगदीशपुर के बलवा चौक का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. जिसमें एक जीविका दीदी राशन कार्ड बनवाने के लिए खुले आम 35 रुपये वसूल रही है. जीविका दीदी अपना नाम फूलन कुमारी बताती है. पूछने पर कि राशन कार्ड बनवाने में तो एक भी पैसा नहीं लगेगा, कहती है हां ठीक है लेकिन मैं पैसे ले रही हूं. जीविका दीदी मानने को तैयार नहीं है कि वो गलत कर रही है. शिकायत करने की बात कहने पर वो कहती है आपको जहां जाना है चले जाए. फूलन कुमारी बताती हैं कि पैसा उपर तक पहुंचाना है.

बता दें पिछले दिनों पूर्वी चंपारण जिले का भी एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ था. वीडियो में देखा जा सकता है कि जीविका दीदी के पति द्वारा राशन कार्ड बनवाने और स्वास्थ्य विभाग से 5 हजार रुपया दिलाने के नाम पर 500 – 500 रुपये की वसूली की जा रही है. वायरल वीडियो में जीविका दीदी के पति द्वारा राशन कार्ड के फॉर्म के साथ हाथ मे लिए गए 500 के नोट की गड्डी को आसानी से देखा जा सकता है. हालांकि इसको लेकर ग्रामीणों ने भी ये बात स्वीकार की थी कि राशन कार्ड बनवाने के नाम पर अवैध पैसे वसूले जाते हैं.