हा’दसों भरी होली, आ’ग लगने से मा’तम पसरा

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) : होली का त्यौहार बिहार के लिए हा’दसों से भरा रहा. बिहार के पटना व नालंदा में होली की सुबह आ’ग लगने से भ’यंकर नु’कसान हो गया. आ’ग लगने की पहली घटना राजधानी पटना के मौर्यालोक में हुई जिसमे आ’ग से भारी नु’कसान हुआ है. दूसरी घटना नालंदा के बिहारशरीफ की एक महादलित बस्‍ती में घटित हुई जिसमे आ’ग से सात गरीबों के घर ज’लकर रा’ख हो गए.

होली की सुबह पटना के मौर्यालोक परिसर के पास एक गोदाम में अचानक आ’ग लग गई. देखते ही देखते आग ने इतना वि’कराल रूप ले लिया कि उसकी चपेट में आकर आधा दर्जन कारें व कई बाइकें ज’लकर ख़ा’क हो गयीं. आ’ग लगने के कारण हर तरफ अ’फरा-तफरी का माहौल हो गया. स्‍थानीय लोगों ने आ’ग को बुझाने की पुरजोर कोशिश की लेकिन आ’ग इतनी ज्यादा तेज थी कि आ’ग बुझाने की सारी कोशिशें नाकाम साबित हुईं. घटना की सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड की टीम भी मौके पर पहुंची. लेकिन तब तक आ’ग काफी नुकसान कर चुकी थी. फिलहाल आ’ग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है.

आ’ग लगने की दूसरी घटना सोमवार की देर रात नालंदा जिला मुख्‍यालय स्थित दीपनगर थाना क्षेत्र के कोसुत पुल के समीप महादलित बस्ती में हुई. इस घ’टना में महादलितों के सात फूस के घर ज’लकर राख हो गए. आ’ग लगने की सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची लेकिन तब तक आ’ग ने भयंकर रूप धारण कर बहुत बड़ा नु’कसान कर दिया था. घ’टनास्थल पर पहुंचे डीएसपी की पहल पर जीवन रक्षक टीम के सदस्यों ने पी’ड़ित परिवारों के लिए कपड़े की व्यवस्था की. पुलिस के अनुसार घर में खाना बनाते वक़्त आ’ग लगी होगी.

फिलहाल गरीबों के लिए इस नु’कसान की भरपाई कर पाना कठिन है. होली के त्यौहार पर हर्षोल्लाष की जगह बस्ती में मा’तम सा पसरा हुआ नज़र आया. पीड़ित परिवारों को अब सरकार व प्रशासन से राहत का  इंतजार है तथा पीड़ित अब सरकार से मदद की आस में हैं जिससे दुबारा से उनके सिर पर छत का साया आ सके.

Advertisements