राहत! पटना AIIMS में 60 से घटकर 21 पहुंची नए मरीजों की दैनिक संख्या

Patna (TBN – The Bihar Now डेस्क) | पटना एम्स से एक अच्छी खबर आ रही है. एक तरफ जहां बीते 15 दिनों में कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट में बढ़ोतरी हुई है वहीं दैनिक मरीजों की संख्या में भी गिरावट दर्ज की गई है. बता दें कि एक समय एम्स में नए आने वाले मरीजों की संख्या 60 पार कर गई थी. वहीं शुक्रवार को महज 21 पहुंचे. हालांकि कोरोना मरीजों में से 8 लोगों की मौत कल हो गई जो एक बुरी खबर है. शुक्रवार को कोरोना से जान गंवाने वालों में दो डॉक्टर और एक रिटायर्ड डीएसपी शामिल थे.

पटना एम्स के कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार के मुताबिक राहत की बात यह भी है कि पटना एम्स में सबसे ज्यादा गंभीर मरीज इलाज के लिए आते हैं ऐसे में रिकवरी रेट में भी बढ़ोतरी दर्ज होना राहत भरी खबर है. शुक्रवार को 27 लोगों को पटना एम्स ने कोरोना निगेटिव होने के बाद घर जाने की इजाजत दे दी. बता दें कि यह इजाजत मरीजों को स्वस्थ होने के बाद दिया जाता है.

बता दें कि बिहार में कोरोना से हुई मौतों की संख्या अब 400 पहुंच गई है. शुक्रवार को 12 मरीजों की मौत हुई जिनमें आठ की मौत तो पटना एम्स (Patna AIIMS) में ही हुई. गौरतलब है कि कल प्रदेश में में 3646 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई. इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 71,794 हो गई. हालांकि इनमें 46,265 संक्रमित मरीज इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं. राज्य में संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 64.44 प्रतिशत है. गौरतलब है कि राज्य में अभी कोरोना के 25,128 एक्टिव मरीजों का इलाज किया जा रहा है.

इसके साथ ही बिहार ने एक दिन में 70 हजार से अधिक लोगों की जांच कर एक रिकॉर्ड भी कायम किया है. राज्य में शुक्रवार को एक दिन में 71, 520 सैम्पल की कोरोना जांच की गई. सूबे में अबतक 8 लाख 70 हजार 852 सैम्पल की कोरोना जांच की जा चुकी है. कोरोना जांच की सुविधा प्रखंड स्तर पर सभी प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों तक दी जा रही है. राज्य में ऑन डिमांड कोरोना की जांच की जा रही है.