BREAKING: पटना AIIMS में इमरजेंसी सेवाएं बंद

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार में कोरोना संक्रमण के मरीजों की बढ़ती हुई तादात को देखते हुए पटना AIIMS एम्स (आल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज) में इमरजेंसी सेवा को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है. राजधानी पटना स्थित एम्स में कोविड समíपत अस्पताल का बैनर लगाते हुए सूचित किया गया है कि अब यहां केवल कोरोना संक्रमित मरीजों को ही इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी.

राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या में होती बढ़ोत्तरी के बाद पटना एम्स को कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल में बदलते हुए फिलहाल के लिए इमरजेंसी सेवाएं बंद कर दी गयी हैं. इसके बारे में जानकारी देते हुए एम्स के निदेशक डॉ. प्रभात कुमार सिंह ने बताया है कि एम्स में बड़ी संख्या में सामान्य इमरजेंसी और कोरोना संक्रमित दोनों ही तरह के मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं. इस तरह की परिस्थिति में दोनों मरीजों के साथ पूरी तरह से न्याय नहीं हो पाने के कारण अस्पताल प्रशासन ने कोरोना मरीजों के बेहतर इलाज के लिए पूरी तरह कोविड अस्पताल बनाने का निर्णय लिया है.

कृपया ये भी पढ़ें –
पटना न्यू बाइपास पर बनेंगे 5 अंडरपास
अब बड़े दायरे में होगी कोरोना की जांच
सड़क में गड्ढा या गड्ढा में सड़क, अन्तर स्पष्ट नहीं – AAP

एम्स में इमरजेंसी सेवाएं बंद हो जाने के बाद राज्य के विभिन्न जिलों के अस्पतालों से रेफर किये गए कोरोना संक्रमित मरीजों का ही इलाज अब एम्स में किया जायेगा. इसके साथ ही एम्स में बने फ्लू सेंटर को भी अब पूरी तरह से बंद कर दिया गया है. अस्पताल प्रशासन के द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव की दृष्टि से अस्पताल परिसर में मरीजों के परिजनों के प्रवेश पर भी अब रोक लगाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं.