DM ने क्वारंटाइन सेंटर के लोगों को काम देने का दिया निर्देश

पटना (TBN रिपोर्ट) | राजधानी पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि द्वारा हिंदी भवन स्थित सभागार में आयोजित एक बैठक के दौरान कोरोना (कोविड-19) से संबंधित कोषांग के नोडल पदाधिकारी को क्वारंटाइन सेंटर पर रहने वाले लोगों के कार्य करने की प्रकृति एवं क्षमता के अनुरूप काम देने का निर्देश दिया.

जिलाधिकारी ने इसके लिए केंद्रवार आवासित लोगों के कौशल का आंकलन करने तथा आवश्यक निर्णय लेने हेतु उप विकास आयुक्त की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया. जिसमें सदस्य के रूप में एलडीएम जीएम डीआईसी, जिला नियोजन पदाधिकारी, श्रम अधीक्षक जिला समन्वयक कौशल विकास को शामिल किया गया है.

डीएम द्वारा केंद्र पर क्वारंटाइन अवधि समाप्त होने पर लोगों को क्षमता के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है. जिलाधिकारी ने क्वारंटाइन सेंटर के सफल एवं सुचारु संचालन सुनिश्चित कराने हेतु प्रत्येक कार्य के लिए अलग अलग एक कर्मी की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया. इसके लिए निबंधन ,नियंत्रण कक्ष, रसोईघर ,भोजनालय,शयन कक्ष, साफ सफाई, माइकिंग, मेडिकल चेकअप ,मनोरंजन, आदि कार्यों के लिए प्रत्येक केंद्र पर अलग -अलग कार्यों के लिए एक- एक व्यक्ति विशेषकर शिक्षक की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया.

जिलाधिकारी ने क्वारंटाइन केंद्र पर आवासित व्यक्तियों में से महिलाओं की संख्या, बच्चों की संख्या, 50 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों की संख्या, बीमार व्यक्तियों की संख्या, ट्रेन से आने वाले लोगों की संख्या, अनौपचारिक रूप से पैदल आने वाले लोगों की संख्या से संबंधित प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है. कुमार रवि ने केंद्र पर प्रत्येक दिन नियमित चेकअप करने तथा पंजी संधारित करने को लेकर भी निर्देश जारी किया.

जिलाधिकारी कुमार रवि ने प्रत्येक केंद्र पर लोगों को अनिवार्य रूप से मास्क लगाने , नियमित अंतराल पर साबुन से हाथ धोने एवं सैनिटाइजर का प्रयोग करने तथा सोशल डिस्टेंस हर हाल में मेंटेन करने का निर्देश दिया. उन्होंने अपर समाहर्ता विधि व्यवस्था को बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ़ करने करने तथा प्रतिवेदित करने को कहा. बीएमपी एरिया में कुल 236 घरों का हाउस टू हाउस सर्वे किया गया इसमें 789  फेमली मेंबर थे. सोमवार को पुलिस लाइन में हाउस टू हाउस सर्वे कार्य किया जाएगा.