डाकबंगला चौक को बनाया श्रीराम चौक, लगाए जय श्रीराम के नारे

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| रविवार को रामनवमी (रामनवमी) के अवसर पर हिन्दू श्रद्धालुओं (Hindu devotees) ने राजधानी पटना के डाकबंगला चौराहा (Patna’s Dakbangla Chowk) का नाम बदल दिया. इस चौराहे को श्रीराम चौक (Shri Ram Chowk) का नाम देते हुए वहां इसका बैनर लगा दिया. उसके बाद जय श्रीराम का जयकारा भी लगाया. यह सब पड़ोसी राज्य यूपी स्टाइल में किया गया. श्रद्धालुओं की भीड़ और उत्साह को देखते हुए प्रशासन भी चुप्पी साधे रहा.

चौराहे पर उपस्थित श्रद्धालुओं का कहना था कि डाकबंगला चौराहे से महावीर मंदिर का रास्ता जाता है. ऐसी स्थिति में महावीर मंदिर के कारण डाकबंगला चौराहे का नाम श्रीराम चौक होना चाहिए.

राजधानी का हृदयस्थल है डाकबंगला चौक

बता दें, डाकबंगला चौराहे को राजधानी का हृदयस्थल माना जाता है. इस चौराहे से एक रोड स्टेशन यानि महावीर मंदिर जाता है और दूसरा रोड फ्रेजर रोड बनकर निकलता है. वहीं एक रोड एग्जीविशन रोड तथा दूसरा रोड हाईकोर्ट की तरफ निकलता है. इस कारण यह चौक पटना का सेंटर प्वाइंट भी माना जाता है.

यह भी पढ़ें| मुजफ्फरपुर में BJP का विरोध, डॉ. संजय जायसवाल को पड़ा भागना

इस चौराहे की एक अलग ही पहचान है. इस कारण से पुलिस की चौकसी भी इस चौराहे पर काफी अधिक होती है. राजनीतिक पार्टियों व नेताओं का धरना प्रदर्शन भी इसी चौक पर अधिक होता है. साथ ही राजधानी में जब भी किसी प्रमुख स्थान की बात आती है तो डाकबंगला चौराहा हर व्यक्ति की जुबान पर होता है. शहर के जानकार बताते हैं कि डाकबंगला चौराहा काफी प्रमुख है और इसकी पहचान वर्षों से है.

मुख्यमंत्री ने देखा श्रीराम चौक का बैनर

रामनवमी के अवसर पर डाकबंगला चौराहे पर भव्य झांकी निकाली गई थी. इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए. साथ ही पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Former Union Minister Ravi Shankar Prasad) के साथ कई प्रमुख अतिथि के पहुंचे से पहले ही डाकबंगला चौराहे पर श्रद्धालुओं ने श्रीराम चौक का बैनर लगा दिया.

इस अवसर पर अतिथियों का डाकबंगला चौराहे पर स्थित पुलिस बूथ पर श्रीराम चौक का बैनर लगाकर स्वागत किया गया. बताते चलें, इस चौक के नाम बदलने को लेकर लोगों में काफी चर्चा होती रही. बहरहाल इस मामले पर प्रशासनिक स्तर पर कोई भी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं थे.

(इनपुट-एजेंसी)