सीपीआईएम ने फूंका राज्य सरकार का पुतला

मलाही पकड़ी चौराहा के पास राज्य सरकार का पुतला दहन
मृतक राजेश ठाकुर को अविलंब मुआवजा देने की मांग
मृतक को पिटाई करने वाले पुलिस प्रशासन के पदाधिकारी पर मुकदमा दर्ज करने की मांग

पटना (TBN – अखिलेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट)| गुरुवार को सीपीआईएम लोकल कमिटी ने राजधानी के मलाही पकड़ी चौराहा के पास स्मार्ट सिटी के नाम पर गरीबों के झोपडियों को हटाने के दौरान पुलिस द्वारा पिटाई से राजेश ठाकुर के मौत के खिलाफ राज्य सरकार का पुतला दहन किया गया.

पुतला दहन के बाद झोपड़ी वासी को संबोधित करते हुए जिला सचिव मनोज कुमार चंद्रवंशी ने कहा कि जदयू भाजपा की सरकार स्मार्ट सिटी के नाम पर गरीबों पर दमन कर रही है, बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए गरीबों के झोपड़ी को उजाड़ रही है. मृतक के परिजनों को मुआवजा देने का वादा किया था लेकिन पुलिस प्रशासन जांच करने के बहाने मुआवजा नहीं देने की रणनीति बना रहा है.

मनोज ने कहा कि जिला प्रशासन अपने वादे से मुकर रही है. पार्टी ने कई बार जिला पदाधिकारी से मिलकर बेघरों को घर देने की मांग की है तथा बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए गरीबों को नहीं उजाड़ने की भी मांग की थी, लेकिन जिला प्रशासन राज्य सरकार के झूठी एवम् काल्पनिक स्मार्ट सिटी बनाने के नाम पर गरीबों पर दमन कर रही है.

मनोज कुमार चंद्रवंशी ने आगे कहा कि पिछले चार सालों से स्मार्ट सिटी के नाम पर सरकारी रकम का बंदरबांट हो रहा है. सरकारी खजाने को लूटने के लिए नगर विकास के पदाधिकारी और ठिकेदार के मिलीभगत से एक ही सड़क और नाले को तोड़ना फिर बनाना यही कार्य रह गया है. पटना नगर निगम भी फेल हो चुका है.

यह भी पढ़ें| आईआईटी खड़गपुर का छात्र पटना से हुआ गिरफ्तार, साइबर स्टॉकिंग का है आरोप

उन्होंने कहा कि सीपीआईएम राज्य सरकार एवम् जिला प्रशासन से मांग करती है कि बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए गरीबों को उजाड़ने पर रोक लगाई जाए तथा मृतक को अविलंब मुआवजा दी जाए तथा जिला पदाधिकारी को दिए गए बेघरों की सूची को अविलंब सबको जमीन या आवास दिया जाए.

इस कार्यक्रम में जिला सचिव मनोज कुमार चंद्रवंशी के अलावा विश्वनाथ प्रसाद, सरिता पांडेय, चंदन कुमार, अमरनाथ प्रसाद, त्रिलोकी पांडेय, अजीत शर्मा, तरुण कुमार सहित अन्य मौजूद थे.