वीवीआईपी ज़ोन में कोरोना ने दी दस्तक

पटना (TBN रिपोर्ट) | सोमवार को पटना जिले में 6 कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई थी. सिर्फ राजधानी पटना में कुल पाँच कोरोना (COVID-19) वायरस संक्रमित नए मरीज पाए गए थे. इनमें से एक एक मरीज फुलवारी, बीपीएससी (BPSC) के पीछे और न्यू पाटलीपुत्र कालोनी में सामने आए थे जबकि दो केस मछलीगली (राजाबाज़ार) के थे.

बीपीएससी (BPSC) के पीछे इस इलाके में मुख्यमंत्री के आवास से लेकर राजभवन और तमाम मंत्रियों के साथ की बड़े अधिकारियों का आवास है. इस इलाके में कुछ चतुर्थवर्गीय कर्मियों का भी आवास है.

इतना ही नहीं, इधर स्लम एरिया भी बना हुआ है जो जिला प्रशासन के लिए सरदर्द साबित हो रहा है. बीपीएससी कार्यालय के पीछे के इस एरिया में कोरोना पाज़िटिव मरीज का पाया जाना इस वीवीआईपी जोन को रेड जोन में बदल रहा है.

इस पूरे इलाके को जिला प्रशासन ने सील कर दिया है. पटना के डीएम कुमार रवि और एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने सोमवार देर रात में बीपीएससी के पीछे वाले इलाके का निरीक्षण किया और वहां लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी है.

मंगलवार को सुबह से ही पटना नगर निगम ने इस इलाके में सैनिटाइजेशन का काम शुरू कर दिया है. इतना ही नहीं, मुख्यमंत्री आवास और अगल-बगल के इन सभी इलाकों में आज मैन टू मैन स्कैनिंग की जा रही है.

इन इलाकों में लोगों का सैंपल टेस्ट भी लिया जा रहा है. प्रशासन के द्वारा पटना के सिविल सर्जन को हाउस टू हाउस सर्वे करने का निर्देश दिया गया है. बताते चलें कि पटना एयरपोर्ट के स्टाफ में मिले संक्रमण के चेन से ही बीपीएससी के पीछे पॉजिटिव केस सामने आया है.