लॉकडाउन तोड़ने पर गिरफ्तारी और जुर्माने का सिलसिला लगातार जारी

पटना (TBN रिपोर्ट) :- बिहार में लॉकडाउन में मिली सशर्त छूट को लेकर डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने लोगों को चेतावनी देते हुए निर्देश जारी कर बताया था कि, “लॉकडाउन के दौरान छूट सिर्फ जरूरी सेवाओं को लेकर दी गई है. अगर इसका गलत इस्तेमाल किया गया तो ऐसे लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी”. 

डीजीपी के आदेशानुसार राज्य में लॉकडाउन तोड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए आज पुलिस ने 77 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने 42 लोगों के खिलाफ केस दर्ज भी किया है.

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने साफ़ शब्दों में कहा था कि, “जो गलती करेंगे उन्हें बख्शा नहीं जाएगा बेजवह घूमने वाले पकड़े जाएंगे तो केस दर्ज होगा और वो जेल भी जाएंगे”. बिहार पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 1983 गाड़ियों को जब्त कर लिया है. पुलिस ने 46 लाख 22 हजार, 400 रुपए फाइन भी काटा है. 

बता दें बिहार पुलिस कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही है. ऐसे में कोरोना को लेकर लॉकडाउन का पालन न करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए  24 मार्च से अब तक पुलिस ने 1261 लोगों को गिरफ्तार किया है. 1370 लोगों पर लॉकडाउन तोड़ने का केस दर्ज किया गया है.  35728 गाड़ियों को जब्त किया गया है. लॉकडाउन तोड़ने वालों से कुल 8 करोड़, 27 लाख रुपए से अधिक की राशि बसूल की गयी है.