भाजपा MLC की कर्फ्यू लगाने की मांग

सीतामढ़ी (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- कोरोना वायरस के बढ़ते हुए खतरे को देखते हुए बिहार सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस से बचाव के लिए हर संभव प्रयास करते हुए 31 मार्च तक लॉक डाउन की घोषणा के साथ ही जनता से सोशल डिस्टेडिंग को अपनाने की अपील भी की है. लेकिन लॉक डाउन होने के बावजूद भी लोगों का आवागमन रुकने का नाम नहीं ले रहा है. अन्य राज्यों से आने वाले लगातार बिहार में प्रवेश कर रहे हैं. बिहार में कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण के फैलने से बचाव के लिए एहतियात के तौर पर  31 मार्च तक सिटी बसों के साथ अंतरराज्यीय बसों के परिचालन पर रोक लगाई गई थी.इसके साथ ही 31 मार्च तक सरकारी एवं प्राइवेट सभी तरह के सिटी बसों एवं अंतरराज्यीय बसों का परिचालन पूरी तरह से बंद रखने की घोषणा भी की गयी थी लेकिन जिस तरह बाहरी राज्यों से लोग बिहार में लौट कर आ रहे हैं उसे देखकर तो लगता है कि लोगों पर लॉक डाउन का कोई प्रभाव ही नहीं पड़ रहा है. इस तरह की परिस्थिति को देखते हुए समस्तीपुर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एमएलसी ने पूरे बिहार में कर्फ्यू लगाने की मांग की है.

एक समय में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले और वर्तमान में तिरहुत स्नातक क्षेत्र से भाजपा एमएलसी देवेश चंद्र ठाकुर ने राज्य सरकार से बिहार के सभी जिलों में कोरोना से लड़ाई को लेकर पूरे तरीके से कर्फ्यू लगाने की अपील की है. एमएलसी देवेश चंद्र ठाकुर ने  कोरोना से लड़ाई के लिए एक बड़ा निर्णय लिया है. उन्होंने अपना 6 महीने का वेतन दान में दिया है. उन्होंने बताया कि “बिहार में लॉक डाउन के बावजूद भी लोग सड़क पर निकल रहे हैं. लोगों की आवाजाही अभी भी लगातार जारी है”.

एमएलसी देवेश चंद्र ठाकुर ने जनता से अपील करते हुए कहा है कि “कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए घर में रहना आवश्यक है”. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि “अकारण बाहर नहीं निकलने की जरूरत है. आगे उन्होंने लोगों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि “कोरोना की हार होगी और दुनिया जीतेगी. बिहार के सभी लोग गंभीरता से सरकार के सभी आदेशों का पालन करें”.

ज्ञात हो देवेश चंद्र ठाकुर का उत्तर बिहार के ब्राह्मण समाज में अच्छा ख़ासा प्रभाव है. देवेश चंद्र ठाकुर लम्बे समय से विधान परिषद् में तिरहुत स्नातक क्षेत्र से जीत हासिल करते आ रहे हैं. देवेश चंद्र ठाकुर जनता दल यूनाइटेड (जदयू) छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे.