कोरोना के बीच बर्ड फ्लू से मचा हड़कंप

नवादा (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | बिहार के नवादा में  कोरोना के खतरे के बीच बर्ड फ्लू  की ख़बरों से हड़कंप मच गया है. खबर के अनुसार अकबरपुर प्रखंड के रजहत गांव में स्थित पोल्ट्री फार्म की मुर्गियों में बर्ड फ्लू के लक्षण पाए गए हैं. मुर्गियों के सैम्पल्स की जांच के बाद बर्ड फ्लू की पुष्टि होने से प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है.

मिली जानकारी के अनुसार नवादा जिले के अकबरपुर के रजहत गांव के पॉल्ट्री फॉर्म में बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 7500 मुर्गियों को मार कर आबादी से दूर ले जाकर दफनाया गया है. बर्ड फ्लू का वायरस फैलने से रोकने के लिए संक्रमित पॉल्ट्री फॉर्म से लेकर एक किमी तक के एरिया को सील कर दिया गया है.

इसके साथ ही संक्रमित क्षेत्र से 9 किमी की दूरी तक के क्षेत्र में मुर्गी और अंडे की बिक्री बैन कर दी गई है. जिलाधिकारी के निर्देश के बाद 14 टीमें मुर्गियों को मारने में लगी हैं. मामले की गंभीरता को देखते हुए पटना से टीम बुलाई गई है. बर्ड फ्लू का फैलाव दूसरे शहरों या अन्य क्षेत्रों में नहीं हो, इसके लिए सघन सैनिटाइजेशन का काम जारी है.

जिलाधिकारी के निर्देश के बाद आगे की कार्रवाई करते हुए जिला पशुपालन पदाधिकारी ने पूरे अभियान की कमान संभाल रखी है. पशु चिकित्सकों की कई टीमें संक्रमित क्षेत्र में कैंप कर रही है. एक किलोमीटर के रेंज में मूवमेंट रोकने के लिए पुलिस बल और मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है.

फतेहपुर-ककोलत रोड को बैरिकेडिंग कर पूरी तरह से सील कर दिया गया है. वहीं बर्ड फ्लू के चलते क्षेत्र के लोगों में भी भय का माहौल व्याप्त हैं और लोग कोरोना के बाद आयी इस मुसीबत के चलते दहशत में हैं.