सूरत में बिहारी मजदूरों ने किया फिर से हंगामा

पटना / सूरत (TBN रिपोर्ट) :- बिहार सरकार लॉकडाउन का हवाला देते हुए बाहरी राज्यों में फंसे हुए लोगों को बिहार में वापस लाने में असमर्थता जता रही हैं. यहाँ तक कि राजस्थान के कोटा में फंसे हुए छात्र और छात्राओं को वापस लाने का मामला अभी भी हाई कोर्ट में चल रहा है.

इसी बीच लॉकडाउन के कारण गुजरात के सूरत में फंसे लाखों की तादाद में दूसरे राज्यों के लोगों के साथ बड़ी संख्या में बिहार के लोग हैं. हाल ही में सूरत में फंसे मजदूरों ने कई बार हंगामा किया है लेकिन कोई नतीजा न निकलने से नाराज़ भूख और परेशानियों  का सामना कर रहे मजदूरों ने आज गुस्से में हंगामा किया और तोड़फोड़ कर डाली. इनके साथ में यूपी समेत कई दूसरे राज्यों के भी मजदूर थे. तोड़फोड़ करने के मामले में पुलिस ने कुछ मजदूरों को गिरफ्तार भी कर लिया है.

गुजरात में सूरत के खाजोड़ में तैयार हो रहे एशिया के सबसे बड़ी डायमंड बोर्स में चार हजार बिहार समेत कई राज्यों के मजदूर यहां पर काम करते हैं. लॉकडाउन के कारण इन मजदूरों को भोजन नहीं मिल रहा है. जिसकी वजह से गुस्से में आकर सभी मजदूरों ने बोर्स के कार्यालय पर पथराव और तोड़फोड़ कर दी. सभी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि, “खाना नहीं दिया जा रहा है अगर खाना नहीं दे सकते तो उनको अपने घर भेज दे”. सभी लोग अपने घर लौटने के लिए इंतजाम करने की मांग कर रहे हैं और अपना देय भुगतान भी जल्द दिए जाने की मांग कर रहे हैं. फिलहाल डायमंड बोर्स में हंगामा देख भारी संख्या में पुलिस को तैनात कर दिया गया है. पुलिस ने हिंसक प्रदर्शन में शामिल कुछ प्रवासी कामगारों को हिरासत में लिया है.

error: Content is protected !!