रिया पूरी तरह से उजागर, ड्रग पैडलर्स के साथ थी जुड़ी: बिहार डीजीपी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तार हो चुकी है. रिया की गिरफ़्तारी एनसीबी की टीम ने की. गिरफ़्तारी के बाद रिया को कोर्ट के आदेश पर 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

रिया की गिरफ़्तारी के बाद बिहार के पुलिस महानिदेशक (DGP) गुप्तेश्वर पांडे ने मंगलवार को पत्रकारों से कहा कि रिया चक्रवर्ती अब पूरी तरह से उजागर हो गई है हैं क्योंकि उन्हें ड्रग पेडलर्स के साथ संबंध के सबूतों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है. सुशांत के पिता की शिकायत के आधार पर पटना में दर्ज एक मामले में रिया एक आरोपी है. उन्होंने कहा कि पूरा देश उसकी मौत के पीछे का कारण जानना चाहता है. मामले की जांच में कुछ तो सबूत सामने आए होंगे, जिसके आधार पर रिया को गिरफ्तार किया गया.

डीजीपी ने कहा कि रिया तो छोटी मछली है, इस मामले की जांच की आंच में कई बड़े लोग लपेटे में आएंगे. उन्होंने कहा कि जांच के साथ परत दर परत पूरा कनेक्शन भी सामने आएगा. डीजीपी ने यह भी कहा कि उन्हें रिया के अब तक के दिए बयानों पर भरोसा नहीं है.

जब पांडे से यह पूछा गया कि क्या रिया को केस के सिलसिले में बिहार भी लाया जा सकता है तो उन्होंने कहा कि अब सुशांत केस और इससे जुड़े सभी मामलों की जांच सीबीआई, एनसीबी और ईडी कर रही है. इसलिए रिया को बिहार तभी लाया जा सकता है जब जांच एजेंसियों को बिहार में भी ड्रग्स कनेक्शन मिलेगा.

पांडे ने पटना में संवाददाताओं से कहा, “मैं रिया की गिरफ़्तारी से उत्साहित नहीं हूं. मेरे खुश होने या दुखी होने का कोई कारण नहीं है. मैं चाहता हूं कि रहस्य सामने आए. उस रहस्य को सामने लाना है. और रिया व अन्य की गिरफ्तारियाँ इसमें पहला कदम हैं.”

“यह स्पष्ट है कि रिया का ड्रग पेडलर्स के साथ कनेक्शन था. रिया चक्रवर्ती इस मामले में पूरी तरह से उजागर हुई हैं कि उसका ड्रग पेडलर के साथ संबंध था. यह संबंध सामने आ गया है, इसीलिए उसे गिरफ्तार किया गया है,” उन्होंने कहा.

बता दें कि मंगलवार को सुशांत राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग मामले में चक्रवर्ती को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने गिरफ्तार किया था. उसके भाई शोनिक और सहयोगी सैमुअल मिरांडा को भी मामले में पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है.

बिहार के डीजीपी ने यह भी आरोप लगाया कि राजपूत की मौत की जांच में मुंबई पुलिस निष्पक्ष नहीं थी. इससे पहले, बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस राजपूत की मौत की जांच के लिए रस्साकशी में लगी हुई थी. पटना में राजपूत के पिता केके सिंह की शिकायत पर रिया चक्रवर्ती और अन्य के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने सहित कई धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी. हालांकि मामला उच्चतम न्यायालय में पहुंचने के बाद न्यायालय ने पटना में दर्ज एफआईआर को वैध पाया था. उसके बाद सर्वोच्च न्यायालय ने सीबीआई से अभिनेता की मौत से जुड़े मामले की जांच करने को कहा.

Advertisements