मल्लिका दुआ ने लोगों से अपने पिता विनोद दुआ की मौत के बारे में अफवाहें न फैलाने का किया आग्रह

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| कॉमेडियन और अभिनेता मल्लिका दुआ (Comedian and actor Mallika Dua) ने सोमवार को एक बयान जारी कर लोगों से उनके पिता, वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ (veteran journalist Vinod Dua) की मौत के बारे में अफवाहें न फैलाने का आग्रह किया, जो अभी में आईसीयू में हैं. इंस्टाग्राम स्टोरीज (Instagram Stories) पर मल्लिका ने कहा कि वह अपने पिता के बारे में सभी को अपडेट रखेंगी.

मल्लिका दुआ ने लिखा, “सभी से अनुरोध है कि मेरे पिता के निधन के बारे में अफवाहें न फैलाएं। वह आईसीयू में हैं. अभी भी लड़ रहे हैं. परिणाम कुछ भी हो, उन्हें अपनी गरिमा रखने दें. कृपया गलत सूचना न फैलाएं और न ही उसपर विश्वास करें. मैं सभी समाचार और अपडेट आधिकारिक रूप से जारी करूंगी. ट्विटर नहीं.”

इससे पहले दिन में, मल्लिका ने एक इंस्टाग्राम स्टोरीज पोस्ट में कहा था: “मेरे पापाजी आईसीयू में गंभीर रूप से बीमार हैं. अप्रैल से उनका स्वास्थ्य तेजी से बिगड़ रहा था. वह भी अपने जीवन की रोशनी खोने के मामले में नहीं आ पा रहे हैं. उन्होंने एक असाधारण जीवन जिया है और हमें वही दिया है. वह किसी दर्द के पात्र नहीं हैं. वह बेहद प्यार और सम्मानित है और मैं सभी से आग्रह करती हूं कि आप प्रार्थना करें की वे जितना संभव हो उतना कम दर्द का अनुभव करे.”

पत्नी का कोरोना से हुआ था निधन

बता दें, विनोद दुआ को इस साल की शुरुआत में कोविड -19 (Covid-19) के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनकी पत्नी, रेडियोलॉजिस्ट पद्मावती दुआ, जिन्हें चिन्ना दुआ ((Radiologist Padmavati ‘Chinna’ Dua) के नाम से जाना जाता है, जिन्हें उनके साथ भर्ती कराया गया था, का 11 जून को COVID-19 के खिलाफ लंबी लड़ाई के बाद निधन हो गया.

यह भी पढ़ें| डिप्टी कमिश्नर ने युवक को मारी गोली, पत्नी लड़ रही पंचायत चुनाव

समाचार एजेंसी के अनुसार, जब कोविड -19 की दूसरी लहर अपने चरम पर (Covid-19 second wave was at its peak) थी, उस वक्त विनोद दुआ और उनकी पत्नी दोनों गुड़गांव (Gurgaon) के एक अस्पताल में भर्ती थे. रिपोर्ट के अनुसार, उनका स्वास्थ्य तब से खराब है और वे हमेशा अस्पतालों के चक्कर लगा रहे है. मल्लिका दुआ की एक बड़ी बहन बकुल दुआ (Bakul Dua, a clinical psychologist) भी हैं, जो एक क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट हैं.