केके पाठक ने संभाला प्रभार, पदभार ग्रहण करते आए एक्शन मोड में

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| वरिष्ट आईएएस अधिकारी केके पाठक (KK Pathak IAS) ने गुरुवार को निबंधन उत्पाद व मद्य निषेध विभाग (Registration Excise and Prohibition Department) के अपर मुख्य सचिव (Additional Chief Secretary) का पदभार ग्रहण कर लिया. इस पद का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद (Chaitanya Prasad) ने केके पाठक को प्रभार दिया.

बता दें, बेहद सख्त मिजाज के माने जाने वाले आईएएस अधिकारी केके पाठक हाल ही में केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति से वापस पटना लौटे हैं. पाठक के पदभार ग्रहण के के दौरान मद्य निषेध विभाग के मंत्री सुनील कुमार (Sunil Kumar Minister) भी मौजूद रहे.

विभाग में हड़कंप

केके पाठक के अपर मुख्य सचिव बनाने की घोषणा के बाद से सचिवालय स्थित इस विभाग में हड़कंप मच गया है. गुरुवार को केके पाठक के कार्यालय आने के पहले से ही विभाग के कर्मचारी और अधिकारी कार्यालय में मौजूद थे.

केके पाठक को शराबबंदी को सख्ती से लागू करने के लिए यह बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है. इस बारे में सरकार द्वारा बुधवार शाम को ही अधिसूचना जारी की गई थी.

मुख्यमंत्री ने सौंपी थी बड़ी जिम्मेदारी

इसके पहले केके पाठक को 2016 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) द्वारा शराबबंदी कानून लागू करने के बाद इसे सख्ती से लागू करने का जिम्मा सौंपा गया था. अपने सख्त मिजाज और ईमानदारी के लिए जाने जाने वाले केके पाठक पर एक बार फिर नीतीश कुमार ने भरोसा जताते हुए उन्हें निबंधन उत्पाद एवं मद्य निषेध विभाग का अपर मुख्य सचिव नियुक्त किया है.

यह भी पढ़ें | पाठक सख्ती से लागू करेंगे राज्य में शराबबंदी, नीतीश ने जताया भरोसा

बता दें, 2016 में शराबबंदी कानून लागू करने के लिए केके पाठक को नीतीश कुमार ने बड़ी जिम्मेदारी दी थी. उस वक्त तत्कालीन विपक्षी नेता सुशील मोदी (Sushil Kumar Modi) ने उन पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इससे नाराज होकर उन्होंने सुशील मोदी को लीगल नोटिस तक भेज दिया था.

पदभार ग्रहण करते ही आए एक्शन मोड में

प्रभार ग्रहण करने के बाद अपर मुख्य सचिव केके पाठक एक्शन मोड में दिखें. उन्होंने विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को आवश्यक निर्देश दिये. अपर मुख्य सचिव ने अपने अधिकारियों से साफ कर दिया कि काम में लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी. उन्होंने कहा कि हर हाल में राज्य में शराबबंदी को सफल बनाना है.