दो देशों को जोड़ने वाली पहली एजेंसी IRCTC India

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| आईआरसीटीसी (IRCTC) भारतीय रेलवे (Indian Railways) की ‘भारत गौरव योजना’ (Bharat Gaurav Scheme) के तहत पर्यटक ट्रेन के माध्यम से दो देशों को जोड़ने वाली भारत की पहली एजेंसी होगी यह क्योंकि ट्रेन 21 जून को नई दिल्ली से श्री रामायण यात्रा सर्किट (Shri Ramayana Yatra Circuit) पर रवाना होगी. इस बात की जानकारी आईआरसीटीसी के एक अधिकारी ने दी है.

सफदरजंग रेलवे स्टेशन (Safdarjung railway station) से चलने वाली ट्रेन श्री रामायण यात्रा सर्किट पर भारत और नेपाल (Nepal) के बीच लगभग 8,000 किलोमीटर की दूरी तय करेगी.

यह ट्रेन भगवान श्री राम के जीवन से जुड़े प्रमुख स्थानों को कवर करते हुए “स्वदेश दर्शन” योजना (“Swadesh Darshan” scheme) के तहत पहचाने गए रामायण सर्किट पर चलेगी. ट्रेन से नेपाल में स्थित जनकपुर (Janakpur, Nepal) में राम जानकी मंदिर (Ram Janaki temple, Janakpur) की यात्रा इस यात्रा कार्यक्रम का हिस्सा होगी, जो अपने इतिहास में पहली बार होगी.

आईआरसीटीसी (Indian Railway Catering and Tourism Corporation) के अनुसार, 600 व्यक्तियों की क्षमता वाली ट्रेन अयोध्या (Ayodhya), बक्सर (Buxar), जनकपुर (Janakpur), सीतामढ़ी (Sitamarhi) , काशी (Kashi), प्रयाग Prayag), चित्रकूट (Chitrakut), नासिक (Nasik), हम्पी (Hampi), रामेश्वरम (Rameshwaram), कांचीपुरम (Kanchipuram) और भद्राचलम (Bhadrachalam) सहित प्रमुख शहरों को कवर करेगी.

यह भी पढ़ें| अपराध को अंजाम देने की फिराक में लगे 4 अपराधियों को बाढ़ पुलिस ने दबोचा

‘भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन’ (Bharat Gaurav Tourist Train) घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार की पहल “देखो अपना देश” (“Dekho Apna Desh”) है.

प्रस्तावित भारत गौरव पर्यटक ट्रेन यात्रा का पहला पड़ाव भगवान राम की जन्मस्थली अयोध्या में है, जहां पर्यटक श्री राम जन्मभूमि मंदिर और हनुमान मंदिर के अलावा नंदीग्राम में भारत मंदिर भी जाएंगे.

इसके अलावा, आईआरसीटीसी सभी पर्यटकों को एक फेस मास्क, हैंड ग्लव्स और हैंड सैनिटाइजर युक्त सुरक्षा किट भी प्रदान करेगा. इस यात्रा में प्रति व्यक्ति लगभग 65,000 रुपये खर्च होंगे. यह ट्रेन उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना को कवर करेगा.