बाढ़: रुक गया 8वें चरण के प्रचार का शोर, चुनाव में गड़बड़ी करने की सूचना पर हुई छापेमारी

बाढ़ (TBN – अखिलेश्वर कुमार सिन्हा की रिपोर्ट)| सोमवार शाम 5 बजे बिहार पंचायत चुनाव चुनाव (Bihar Panchayat Election 2021) के आठवें चरण के मतदान (8th Round of Voting) के लिए चुनाव प्रचार (Election Campaign Stopped) का शोर बंद हो गया. बाढ़ और पंडारक प्रखंडों में आठवें चरण के मतदान बुधवार 24 नवंबर को होगा.

सोमवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में बाढ़ के एसडीएम सुमित कुमार (Barh SDM Sumit Kumar) ने बताया कि शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव करवाना प्रशासन का लक्ष्य है. इसके लिए सभी जगहों पर मजिस्ट्रेट,सेंटर जोनल अधिकारी के साथ कई अधिकारी रहेंगे.

उन्होंने बताया कि बाढ़ में वोटरों की कुल संख्या 1.03 लाख के आसपास है जबकि पंडारक में 1.25 लाख के आसपास है. बाढ़ में 13 पंचायत (नादावा छोड़ 12) पर और पंडारक में 15 पंचायतों में मतदान होगा.

यह भी पढ़ें| लालू पहुंचे पटना, मंगलवार को चारा घोटाला मामले में है पेशी

उन्होंने बताया कि बाढ़ के 197 मतदान केंद्र और पंडारक के 218 केंद्र क्रिटिकल बूथ हैं. इन सभी बूथों पर कड़ी चाक चौबंद रहेगी. उन्होंने बताया कि आठवें चरण के मतदान के दौरान यहां चलंत बूथ की भी व्यवस्था की गई है. बाढ़ में 4 और पंडारक में 2 चलंत बूथ रहेंगे ताकि लोग आसानी से अपने मत का प्रयोग कर सकें.

चुनाव में गड़बड़ी करने की सूचना पर छापेमारी

इधर, चुनाव में गड़बड़ी करने की सूचना मिलने पर बाढ़ थानाध्यक्ष ने बहरामा, स्टेशन रोड, बाशोबागी सहित कई जगहों पर छापेमारी की. इन जगहों पर शराब की भी जांच की गई.

सोमवार शाम चुनाव प्रचार रुक जाने के बाद अधिकारी क्षेत्र में निकले और प्रचार करने वाले व मतदाताओं को भोज देने वालों से अपील की कि वे कानून नहीं तोड़े.