लेफ्टिनेंट कर्नल पर क्यों दर्ज हुई FIR? जानिए वजह

Patna : आर्मी अस्पताल के लेफ्टिनेंट कर्नल डॉ सुदीप के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया है. यह मामला दानापुर थाना में संजय नट ने दर्ज कराया है. बताया जाता है कि सड़क दुर्घटना में संजय नट का 5 वर्षीय भतीजा अमरजीत के जख्मी होने के बाद विवाद शुरू हुआ था. यह विवाद दूसरे दिन भी जारी रहा जब कर्नल अपने आदमियों के साथ आकर संजय नट को पकड़ कर ले गये और फिर मारपीट की. किसी तरह से जान बचाकर भगा और फिर आर्मी अस्पताल में पदस्थापित लेफ्टिनेंट कर्नल डॉक्टर सुदीप पर दानापुर थाना में एसटी एससी एक्ट के तहत मारपीट करने का मामला दर्ज कराया.

आरोप है कि डॉ सुदीप की चार चक्का गाड़ी से अमरजीत को धक्का लगया और विवाद शुरू हुआ था. फिलहाल युवक को आर्मी कैंपस में ले जाकर मारपीट करने को लेकर दानापुर थाने में एफआईआर दर्ज किया गया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है.

दरअसल खरंजा रोड निवासी संजय नट ने दानापुर थाने में लिखित शिकायत दर्ज करायी है जिसमें बताया है कि बीते बुधवार की संध्या करीब 6 बजे मेरा 5 वर्षीय भतीजा अमरजीत सड़क किनारे जा रहा था. दानापुर आर्मी अस्पताल में कार्यरत लेफ्टिनेंट कर्नल डॉ सुदीप ने अपनी चार चक्का गाड़ी से धक्का मार दिया, जिसमें मेरा भतीजा अमरजीत कुमार जख्मी हो गया जिसे सदर अस्पताल में इलाज कराया गया.

दूसरे दिन कर्नल सुदीप कुमार अपने आधा दर्जन आर्मी के सहयोगियों के साथ घर पर आए और घर से बुलाकर बोले की 15 सौ रुपये की मांग करने लगे. उन्होंने कहा कि जो इलाज के लिये 1500 रुपया लिया है उसे लौटाओ नहीं तो अच्छा नहीं होगा और फिर सभी ने मिलकर आर्मी कैंप में ले जाकर दुर्व्यवहार किया और मारपीट की. जब पुलिस बुलाने की बात कही तो फिर छोड़ दिया गया.

वहां से छूटने के बाद संजय नट ने दानापुर थाने में गया और एससीएसटी एक्ट के साथ मामला दर्ज कराया है. दानापुर थानाध्यक्ष आर के सिन्हा ने बताया कि संजय नट की लिखित शिकायत के बाद थाना में एससीएसटी एक्ट के तहत मारपीट का मामला दर्ज किया गया है. थाना में कांड संख्या -435/20 दर्ज किया गया है. यह धारा 341/323/325/385/504 506 /341 और एससीएसटी दर्ज कराया है.