निगरानी की टीम ने सीवान और पूर्णिया में दो को रंगे हाथ दबोचा

सीवान / पूर्णिया (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार के सीवान में बड़ा बाबू और पूर्णिया में बीसीएम (Block Community Mobilizer) को निगरानी की टीम ने शुक्रवार को घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है.

सीवान में राजस्व विभाग के बड़ा बाबू जियाउल हक को एक लाख रुपये लेते पकड़ा गया है. इसकी पुष्टि निगरानी विभाग के तेज-तर्रार डीएसपी अरुणोदय पांडेय ने दी है. उन्होंने बताया कि जियाउल हक किसी काम के लिए घूस में एक लाख रुपये ले रहे थे.

सबसे बड़ी बात है कि राजस्व विभाग के ऊपरी तल्ले पर डीएम कार्यालय भी है. बताया जा रहा है कि जब बड़ा बाबू की गिरफ्तारी हुई तब कुछ लोगों ने रोका भी, लेकिन निगरानी विभाग के अधिकारियों ने पहचान पत्र दिखाया तब लोग समझ सके.

अभी तक जो जानकारी सामने आई है उसके अनुसार पटना और मुजफ्फरपुर की निगरानी टीम ने छापेमारी की थी. यह भी बताया जा रहा है कि टीम में 10 से 12 लोग शामिल थे. प्रेम शंकर सिंह ने निगरानी से शिकायत की थी.

पूर्णिया में 20 हजार लेते बीसीएम गिरफ्तार

वहीं दूसरी ओर बिहार के पूर्णिया में 20 हजार रुपये लेते हुए बीसीएम (Block Community Mobilizer) को निगरानी की टीम ने गिरफ्तार किया है. पूर्णिया धमदाहा अनुमंडल अस्पताल के बीसीएम (प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक) पद पर कार्यरत सुशील कुमार 20 हजार रुपये घूस ले रहे थे. इसी दौरान निगरानी विभाग की टीम ने उन्हें पकड़ लिया.

यह भी पढ़ें| लालू की तबीयत सुधरी, अस्पताल से डिस्चार्ज, गए बेटी मीसा भारती के घर

बीसीएम द्वारा आशा रानी कुमारी से प्रखंड अस्पताल में पदस्थापित करने के नाम पर 50 रुपया घूस मांगा गया था. बात 20 हजार में तय हुई. इसको लेकर रानी कुमारी ने निगरानी से शिकायत की थी. शिकायत मिलने के बाद निगरानी की टीम ने मामले का सत्यापन किया. मामला सही पाए जाने के बाद शुक्रवार को टीम ने रंगे हाथ पकड़ लिया.

(इनपुट-एबीपी)