नवमी को मंदिर के पुजारी की गोली मारकर हत्या, लोगों ने एक अपराधी को पीट-पीटकर मार डाला

दरभंगा (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बड़ी खबर दरभंगा जिले से आ रही है जहां एक मंदिर के पुजारी की कार से आए अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी है. यह घटना जिले के राज किला परिसर स्थित कंकाली मंदिर में गुरुवार को अहले सुबह हुई है.

जानकारी के मुताबिक, गोली लगने से पुजारी की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी, जबकि एक अन्य पुजारी गोली लगने से घायल हो गया. बताया जा रहा है कि कार से आए चार अपराधियों ने वारदात को अंजाम दिया है. लोगों ने एक अपराधी को पीट-पीटकर मार डाला.

अहले सुबह की घटना

विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के रामनगर मोहल्ला स्थित ऐतिहासिक मंदिर कंकाली मंदिर परिसर में घुसकर बदमाशों ने मुख्य पुजारी की गोली मारकर हत्या कर दी. घटना गुरुवार की सुबह 4:15 की बताई जा रही है. भाग रहे बदमाशों को जब स्थानीय लोगों ने पकड़ने की कोशिश की तो एक भक्त को बदमाशों ने गोली मारकर जख्मी कर दिया. इससे स्थानीय लोग और उग्र हो गए. खदेड़ कर एक बदमाश की पीट-पीटकर हत्या कर दी. जबकि, दो बदमाशों को कार सहित दबोच लिया.

हालांकि, घटना के दौरान एक बदमाश मौके से फरार हो गया. पकड़े गए बदमाशों के पास से एक पिस्टल बरामद की गई है. घटना से स्थानीय लोगों में काफी आक्रोश है. स्थानीय पुलिस पर कई आरोप लगाए गए हैं.

यह भी पढ़ें| पूर्व पीएम मनमोहन सिंह एम्स में भर्ती, हालत स्थिर

घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक बाबू राम मौके पर पहुंचकर मामले की जांच की. हालांकि, इस दौरान स्थानीय लोग काफी आक्रोशित हो गए. काफी मशक्कत बाद आक्रोशित लोग शांत हुए इसके बाद मुख्य पुजारी के स्वजन से एसएसपी ने स्वयं बात की. उन्होंने कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया. एसएसपी बाबूराम ने मीडिया को बताया कि बदमाशों की गोली से मंदिर के मुख्य पुजारी की मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि इस गोलीबारी में एक भक्त जख्मी हो गया है. पकड़े गए तीन बदमाशों में एक की मौत हो चुकी है तथा दो की स्थिति नाजुक है. एक फरार बदमाश को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है. जब्त कार की पड़ताल की जा रही है.

इस घटना के पीछे मोबाईल छीने जाने की वारदात

घटना के संदर्भ में बताया जाता है कि कंकाली मंदिर के मुख्य पुजारी राजीव कुमार झा उर्फ अंटू के भतीजा से दो दिन पूर्व कुछ बदमाशों ने मोबाइल छीन लिया था. इसे लेकर विवाद चल रहा था. इसी बीच गुरुवार की शाम मोबाइल छीनने वाले बदमाश पर नजर पड़ी और पुजारी के भतीजा झुन्नु ने उसे दबोच लिया. दोनों तरफ से मारपीट हुई. इसके बाद सभी बदमाश फरार हो गए.

इसके बाद मंदिर परिसर में सभी लोग नवरात्रा की पूजा में लीन हो गए. रात्रि के एक बजे के बाद मुख्य पुजारी सहित कई भक्त मंदिर परिसर में सो गए. इसी बीच सुबह में कार से सवार होकर चार बदमाश मंदिर के सामने स्थित गली में पहुंचे. इन सभी बदमाशों को हथियार लेकर जाते हुए स्थानीय लोगों ने देख लिया.

जब तक लोग जुटते उससे पहले बदमाशों ने मंदिर परिसर में घुसकर पुजारी की हत्या कर दी. इस बीच मंदिर परिसर में रह रहे भक्त व चुनाभट्टी निवासी चिरंजीवी झा उर्फ संभू को बदमाशों ने गोली मार दी. इसके बाद स्थानीय लोगों ने सभी बदमाशों को चारों तरफ से घेर लिया. इसमें दिल्ली मोड़ स्थित निवासी ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के एक कर्मी के पुत्र पुलकित सिंह को स्थानीय लोगों ने पकड़कर पीट-पीटकर हत्या कर दी. जबकि दो बदमाशों को कार सहित लोगों ने दबोच लिया. लोगों ने अपराधियों द्वारा इस्तेमाल किए गए कार को लाठी डंडे से चूर चूर कर दिया. लोगों की पिटाई से घायल दो बदमाशों की हालत नाजुक बताई जा रही है जिन्हें डीएमसीएच में भर्ती कराया गया है