सुशांत सिंह राजपूत मामला : क्वारंटीन होने के डर से ‘अंडरग्राउंड’ हुई पटना पुलिस

Patna (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला अब मुंबई पुलिस और बिहार पुलिस के बीच तनाव पैदा कर रहा है। इस मामले में बिहार पुलिस की टीम मुंबई पहुंची जिनको मुंबई पुलिस से जरा भी सहयोग नहीं मिला। इसके बाद अपनी टीम को लीड करने जब पटना के एसपी विनय तिवारी मुंबई पहुंचे, तो उन्हें मुंबई बीएमसी ने जबरन क्वारंटीन कर दिया। इस घटना के बाद से ही मुंबई पुलिस शक के घेरे में आ गयी है। वहीं सूत्रों की माने तो अब जांच करने गए बाकी पटना पुलिसकर्मी भी गायब हो गए हैं।

दरअसल इस मामले में पहले जांच मुंबई पुलिस ही कर रही थी। लेकिन मुंबई पुलिस पर सुशांत के परिवार को भरोसा नहीं था। जिसके बाद उनके पिता केके सिंह ने अपने बेटे की मौत के मामले में ऐक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना में एफआईआर दर्ज कराई। इसके बाद बिहार पुलिस जांच के लिए मुंबई पहुंची। लेकिन मुंबई पुलिस का सहयोग ना मिलने के चलते और एसपी विनय तिवारी को जबरदस्ती क्वारंटीन कर देने के बाद अब बाकी पुलिसकर्मी भी इस डर से गायब हो गए हैं।

पटना के एसपी विनय तिवारी के क्वारंटीइन किए जाने के बाद अब वहां मौजूद एसआईटी को बीएमसी के लोग ढूढ़ रहे हैं। इस कारण सोमवार को एसआईटी कुछ देर तक काम करने के बाद ‘अंडरग्राउंड’ हो गई। एसआईटी को जानबूझकर परेशान करने के लिये ऐसा किया जा रहा था। आरोप है कि मुंबई पुलिस के इशारे पर ये सबकुछ हो रहा है ताकि पटना पुलिस अपनी जांच पूरी न करे सके।

वहीं सूत्रों की मानें तो दोपहर एक बजे पटना पुलिस की टीम को जानकारी मिली कि बीएमसी के लोग सभी अफसरों की तलाश कर रहे हैं। उनका पता पूछा जा रहा है। कई जगहों पर बीएमसी के लोगों ने पटना पुलिस के कर्मियों की तलाश भी की लेकिन जब वे नहीं मिले तो बीएमसी के लोग वापस चले गए। वहीं मुंबई पुलिस के इस रवैये का विरोध भी किया जा रहा है।

बिहार डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने भी इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। गुप्तेश्वर पांडे ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘हमने क्वारंटीन गाइडलाइंस की जांच की। इसकी कोई जरूरत नहीं थी। यदि कोई अधिकारी सूचना देकर, वाहन और आवास के इंतजाम की रिक्वेस्ट कर गया है तो वो सिक्रेटली नहीं गया था। SP विनय ने पत्र लिखकर DCP बांद्रा को अपने आने की सूचना दे दी थी।’