सुशांत केस के गवाहों को जान का खतरा, मुंबई पुलिस नहीं दे रही सुरक्षा

Patna (TBN – The Bihar Now डेस्क) | दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत कैसे हुई इसको लेकर अब तक कोई स्पष्ट कारण न तो मुंबई पुलिस बता पा रही है और न ही परिजन या उनके उनके जानने वाले. वहीं मुंबई पुलिस द्वारा जांच की दिशा को भटकाने के आरोपों के बीच सीबीआई जांच में हो रही देरी से सुशांत के परिजन परेशान हैं. सुशांत के चचेरे भाई और भाजपा विधायक नीरज बबलू ने मीडिया से खास बातचीत में आरोप लगाया कि इस मामले में गवाहों को भी धमकी दी जा रही और सबूतों को नष्ट किया जा रहा है. हमें घबराहट होती है कि देर होने से कोई बड़ा एविडेंस नष्ट या खत्म न कर दिए जाएं. उन्होंने कहा कि हमलोगों को इससे थोड़ी घबराहट भी है और असंतोष भी.

नीरज बबलू ने मांग की कि इस मामले में जो गवाह सामने आ रहे हैं उन्हें तत्काल प्रोटेक्शन दिया जाय. हम चाहेंगे कि मुंबई पुलिस गवाहों का ध्यान रखे और उन्हें सुरक्षा प्रदान करे. ऐसा न हो उनकी हत्या हो जाए. उन्होंने कहा कि हम केंद्र सरकार से आग्रह करते हैं कि इसका ध्यान रखा जाए ऐसा न हो गवाहों को खत्म कर दिया जाए. भाजपा विधायक ने कहा कि हम गृह मंत्री जी भी विशेष आग्रह करेंगे कि गवाहों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए.

सुशांत के भाई ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र में कहीं न कहीं किन्हीं को बचाने का प्रयास हो रहा है. किसी को जांच से क्यों घबराना चाहिए जब तक कि कोई गड़बड़ी न हो. उन्होंने कहा कि विदेशों में भी लोग चाहते है न्याय हो और किसी निर्दोष को न फंसाया जाए. इस बीच सूत्रों के हवाले से जानकारी सामने आई है कि सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह से ईडी ने सोमवार को दिल्‍ली में पूछताछ की है.

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत के पिता के अलावा उनकी बहन के भी बयान ईडी दर्ज कर चुकी है. ईडी इससे पहले इस मामले में बॉलीवुड एक्‍ट्रेस रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शौविक चक्रवर्ती और पिता इंद्रजीत से भी पूछताछ कर चुकी है. इसी के साथ ईडी ने सुशांत के दोस्‍त सिद्धार्थ पिठानी और पूर्व बिजनेस मैनेजर श्रुति मोदी से भी पूछताछ की है.

सुशांत सिंह के पिता ने अपने दर्ज बयान में उन तमाम मसलों पर विस्तार से ईडी को जानकारी दी. उन्‍होंने आरोप को लिखित तौर पर भी दिया है, जो पहले बिहार पुलिस को एफआईआर लिखवाने के समय दिए थे. सुशांत सिंह के पिता केके सिंह ने ही सबसे पहले ये आरोप लगाया था कि उनके बेटे के बैंक अकाउंट से करीब 15 करोड़ रुपये की संदिग्ध हालत में निकालने का मामला सामने आया है.

लिहाजा इसी मामले की गंभीरता को देखते हुए ईडी ने विस्तार से कई घंटों तक सोमवार देर शाम तक पूछताछ करते हुए लिखित तौर पर बयान दर्ज किया है. केके सिंह का बयान ईडी की मुंबई ब्रांच में कार्यरत अधिकारियों ने दर्ज किया है. ईडी मुख्यालय के सूत्रों की अगर मानें तो इसी बयान के आधार पर आगे कई लोगों से भी पूछताछ की जा सकती है.

सुशांत सिंह राजपूत के काफी करीबी जानकार की अगर मानें तो ईडी की टीम जल्द ही सुशांत सिंह की बहन का भी बयान दर्ज करने वाली है. सुशांत की बहन का बयान काफी महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि सुशांत सिंह की एक बहन उन पांच प्रमुख गवाहों में से एक है जो सुशांत की मौत की खबर सुनने के बाद सबसे पहले मौके पर पहुंची थीं.

गौरतलब है कि मुंबई पुलिस ने इसी मामले की गंभीरता को देखते हुए पांच प्रमुख गवाहों में सुशांत सिंह की एक बहन के बारे में नामजद गवाह के तौर पर दर्ज किया था. हालांकि इस मामले में उनका बयान मुंबई पुलिस पहले भी दर्ज कर चुकी है. सूत्रों के मुताबिक इसी सप्ताह सुशांत सिंह की बहन से भी ईडी की टीम पूछताछ करने वाली है.

Advertisements