Big Newsक्राइमफीचर

पद्मश्री डॉ आरएन सिंह से रंगदारी मांगने वाला कुख्यात बिंदु सिंह का बेटा गिरफ्तार

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| विश्व हिंदू परिषद (Vishwa Hindu Parishad) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. आरएन सिंह (Padmashree Dr.RN Singh) से रंगदारी मांगने वाला अपराधी पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है. इसकी जानकारी पटना पूर्वी के सिटी एसपी भारत सोनी (Bharat Soni, IPS) ने गुरुवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में दी. गिरफ्तार आरोपी का नाम रोशन सिंह है और वह कुख्यात बिंदु सिंह (infamous Bindu Singh) का बेटा है.

सिटी एसपी पूर्वी भारत सोनी ने बताया कि धमकी देने और रंगदारी मांगने की बात सामने आई थी और मामले में केस दर्ज कर आरोपित की पहचान कर ली गई थी. उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही थी और आखिरकार सफलता मिल गई.

बता दें, मंगलवार की रात अपराधी रोशन ने डॉ. सिंह एक स्टाफ के मोबाइल पर फोन कर उनसे कहा था कि डॉक्टर साहब मदद कीजिए, नहीं तो पुराना दिन याद दिला देंगे. इसके बाद बुधवार की सुबह वह मिलने क्लीनिक भी पहुंच गया. बुधवार की सुबह उसने दो बार कॉल किया था. उसने रंगदारी मांगी पर रकम के बारे में नहीं बताया.

अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के मुख्य यजमान डॉ.आरएन सिंह ने इस मामले की शिकायत कंकड़बाग थाने में की थी. पुलिस केस दर्ज कर जांच में जुट गई और बुधवार की देर रात आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

बता दें कि मूल रूप से सहरसा निवासी हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. आरएन सिंह पटना के कंकड़बाग स्थित पीसी कॉलोनी में रहते हैं. उनके मोबाइल नंबर पर मंगलवार से ही फोन धमकी भरा फोन आ रहा था.

बताया जा रहा है कि बुधवार की सुबह नौ बजे और दोपहर एक बजे भी उसी नंबर से फोन आया था. फोन पर धमकी देने के बाद कुछ देर बाद आरोपी उनके आवास के बाहर तक पहुंच गया था. घटना की सूचना मिलते ही पटना पुलिस डॉक्टर के आवास पर पहुंची. जानकारी के अनुसार, धमकी भरा फोन कुख्यात बिन्दु के बेटे के नाम पर किया गया था.

बता दें कि कुख्यात बिंदु सिंह 90 के दशक में बिहार का एक बड़ा अपराधी माना जाता था. उसका आरोपी बेटा पूर्व में भी रंगदारी और मारपीट के मामले के जेल जा चुका है. बुधवार की देर रात गिरफ्तारी के बाद आरोपी को कंकड़बाग थाने ले आया गया जहां घंटे तक उससे पूछताछ की गई. पटना पुलिस के पदाधिकारी भी इस मामले में पूछताछ के लिए कंकड़बाग थाने पहुंचे पुलिस की माने तो कंकड़बाग थाना क्षेत्र में ही रंगदारी के मामले में आरोपी पहले भी जेल जा चुका है.

(इनपुट-मीडिया)