बाढ़: बेटे ने मां के प्रेमी का किया कत्ल, पुलिस ने किया गिरफ्तार

बाढ़ (TBN – अखिलेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट)| मां के अवैध संबंध के कारण बेटे ने उसके प्रेमी की चाकू मारकर हत्या कर दी. मामले को मरांची पुलिस (Maranchi Police) ने मात्र 72 घंटे के अंदर सुलझा लिया और हत्यारे को उसके दो अन्य सहयोगियों के साथ गिरफ्तार कर लिया है जबकि एक अन्य अभी फरार है.

बाढ़ के एएसपी अरविंद प्रताप सिंह (Arvind Pratap Singh, IPS) ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया कि मामला बाढ़ अनुमंडल के मरांची थाना (Maranchi Police Station) का है. बीते शनिवार 18 जून को मरांची के हीरा कुमार के द्वारा अपने चचेरे भाई मोनू नामक एक शख्स की हत्या का मामला (संख्या 94/22) दर्ज कराया गया था. इस मामले में चार – बादल कुमार उर्फ अंकित कुमार, अंकित कुमार, सौरभ कुमार एवं अजय सिंह उर्फ भाजो सिंह नामजद थे.

मृतक के शरीर को देखकर पुलिस को प्रथम दृष्टया यह मामला हत्या और ट्रेन से फेंकने का प्रतीत हो रहा था. पुलिस ने मृतक के फ़ोटो की शिनाख्त करवाई जिसके बाद यह मामला हत्या में बदल गया. उसके बाद मरांची थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह के नेतृत्व में हत्यारे की खोज के लिए एक टीम का गठन किया गया. इस टीम ने आसूचना संकलित लिया और तकनीकी सहायता लेकर छापेमारी शुरू की.

इस छापेमारी में पुलिस ने बादल कुमार उर्फ अंकित कुमार, अंकित कुमार और भाजो सिंह को गिरफ्तार कर लिया. कड़ाई से पूछताछ के बाद बादल उर्फ अंकित ने मोनू की हत्या की बात को स्वीकार किया और कहा कि इस कांड में उसके साथ अंकित, सौरभ और भाजो सिंह सम्मिलित थे.

यह भी पढ़ें| वायरल वीडियो में लड़की ने प्रशासन से लगाई मदद की गुहार

एएसपी ने बताया कि इस हत्या के मामले के पीछे का कारण मोनू के बादल की मां के साथ अवैध संबंध होना है. पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त एक चाकू भी बरामद किया है. चाकू का अगला भाग टूटा हुआ है.

पुलिस के अनुसार मोनू की प्रेमिका के बेटे बादल ने बहुत ही सुनियोजित तरीके से हत्या की और एक-दो नहीं बल्कि 12 बार शरीर पर चाकू से वार किया और फिर उसकी गर्दन भी रेत दी.

एएसपी अरविंद प्रताप सिंहके अनुसार मृतक मोनू के कई महिलाओं के साथ अवैध संबंध थे. उन्हीं में एक बादल की मां भी थी. बादल ने अपनी मां को मोनू के साथ अवैध स्थिति में देख लिया था. तभी से उसने उसे मारने का फैसला कर लिया था.

पुलिस ने बताया कि जब मोनू को यह पता चला कि बादल ने उसे उसकी मां के साथ गलत स्थिति ने देख लिया है, तो उसने बादल के साथ समझौता करने की कोशिश की. लेकिन बादल ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर पहले मोनू को भरपेट दारू और गांजा पिलाया. जब मोनू बुरी तरह नशे से धुत हो गया तब बादल ने सहयोगियों के साथ उसपर 12 बार चाकू से वार किया. इतने पर भी बादल का गुस्सा शांत नहीं हुआ. बादल ने उसके बाद मोनू का गल भी बुरी तरह रेत डाला.

एएसपी ने बताया कि मामले का एक अन्य आरोपी अभी फरार है और पुलिस उसकी गिरफ़्तारी को लेकर छापेमारी कर रही है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार भाजो सिंह आपराधिक छवि का रहा है और उसके खिलाफ पहले से ही मरांची थाने में 5 और हाथीदह रेलवे स्टेशन में 2 मामले दर्ज हैं.