सिपाही की गोली मारकर हत्या

नवादा (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- एक तरफ बिहार सरकार इन दिनों कोरोना के संकट से जूझ रही है और दूसरी तरफ अपराधियों के हौंसले बुलंदी पर हैं. ताज़ा खबर के अनुसार हिसुआ थाना क्षेत्र में बेखौफ अपराधियों ने बिहार पुलिस के एक जवान की गोली मारकर हत्या कर दी. मृतक जवान काशीचक थाना में सिपाही के पद पर कार्यरत थे.

मिली जानकारी के अनुसार जवान हिसुआ थानाक्षेत्र चितरघट्टी ग्राम निवासी रामधनी चौधरी सिपाही मनोज कुमार मनोरंजन काशीचक थाना से शाम क़ो घर आने के लिए मोटरसाइकिल से निकला था. घटना के बारे में जानकारी देते हुए परिजनों ने बताया कि “उसने हिसुआ पहुंचने के बाद घर में फ़ोन किया कि मैं हिसुआ थानाक्षेत्र के धनवां ग्राम अपने ससुराल जा रहा हूं. उसके बाद शाम 6 बजे के बाद उसने घर फ़ोन किया कि हम सब्जियां ले रहे हैं तुरंत घर आ जाएंगे”. मृतक जवान के परिजनों ने बताया कि जब शाम क़ो 7 बजे से ज्यादा समय हो गया तो सब परेशान हो गए. 8 बजे के बाद सभी मोटरसाइकिल से इधर -उधर खोजने निकल गए. काफी खोजबीन के बाद पता चला कि धरमपुर ग्राम के आगे रेलवे क्रॉसिंग के पास अज्ञात अपराधियों ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी है.

घटनास्थल पर पहुंचे परिजनों ने देखा कि जवान का मृत शरीर रेलवे ट्रैक के पास पड़ा हुआ है औऱ शव के पास में मोटरसाइकिल भी गिरी पड़ी हुई थी. मोटरसाइकिल की  लाइट अभी भी जल रही थी. मृतक के परिजनों ने तुरंत पुलिस को घटना के बारे में अवगत कराते हुए हिसुआ थाने क़ो फ़ोन से सूचना दी. घटना की सूचना मिलते हीं थानाध्यक्ष राजकुमार ने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर आवश्यक कार्यवाई करते हुए पुलिस जवान के शव क़ो कब्जे में लेकर थाने ले गए. जिसके बाद थाने से सुबह पार्थिव शरीर क़ो पोस्टमार्टम के लिए नवादा सदर अस्पताल भेज दिया गया. फिलहाल पुलिस हत्या के कारणों का पता लगाने के लिए मामले की तफ्तीश कर रही है.

बता दें कि अपराधियों के अंदर कानून का भय बिलकुल खत्म हो चुका है. इस वारदात के दो दिन पहले ही सुपौल पुलिस लाइन के पास भी अपराधियों ने एक जवान की गोली मारकर हत्या कर दी थी. बिहार में लॉकडाउन के दौरान इस तरह की वारदातों को अंजाम देते हुए बेलगाम अपराधी लॉकडाउन में चौकसी, सुरक्षा और लॉकडाउन कानून की पोल खोलकर रख देते हैं.