बहुचर्चित रूपेश ह’त्याकां’ड का खुलासा, रोडरेज में हुई ह’त्या

रोडरेज में हुई हत्या,
बाइक चोर ने किया रूपेश का मर्डर,
चोर ने जीवन में पहली बार चलाया था गोली,
चोर अपने 3 साथियों को लेकर गया था मारने

tbn patna ssp disclosing rupesh murder case in press conference

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| 23 दिनों के बाद पटना पुलिस ने इंडिगो एयरलाइन्स के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या की गुत्थी सुलझा लेने का दावा किया है. पटना पुलिस द्वारा आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका खुलासा पटना के एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने की. उन्होंने मीडिया को बताया कि रूपेश की हत्या रोडरेज के कारण हुई.

गौरतलब है कि 12 जनवरी को पटना में रूपेश सिंह की हत्या उनके घर के ही गेट पर ऑफिस से लौटने के क्रम में कर दी गई थी. पुलिस इस मामले को कई ऐंगल से सुलझाने का प्रयास किया लेकिन उनके हाथ कुछ नहीं लगा. फिर पुलिस ने नवंबर में पटना स्थित एलजेपी कार्यालय के पास रूपेश के साथ हुई रोडरेज की एक घटना को खंगाला. इससे पता चला कि रूपेश की हत्या इसी रोडरेज के कारण हुई थी.

पुलिस कप्तान उपेन्द्र शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि नवंबर में पटना स्थित एलजेपी कार्यालय के पास रूपेश के साथ हुई रोडरेज की घटना हुई थी. उस रोडरेज में संलिप्त नाराज युवकों ने रूपेश की हत्या कर दी. एसआईटी ने ऋतुराज नामक एक शख्स को गिरफ्तार भी किया है.

पटना एसएसपी उपेंद्र शर्मा का कहना है कि इस रोडरेज से उपजे रूपेश हत्याकांड मामले में ऋतुराज को गिरफ्तार किया गया है. ऋतुराज ने जयपुर के सनराइज यूनिवर्सिटी (Sunrise University, Jaipur) से भूगोल में औनर्स किया है. पुलिस के अनुसार 2016 में बिहार वापस आने पर ऋतुराज मोटरसाइकिल चोरी में शामिल था. वह हर महीने 4-5 बाइक चोरी करता था. वह प्रत्येक 10 दिन में अपनी बाइक बदल देता था.

एसएसपी ने बताया कि ऋतुराज का पटना जिले में कोई आपराधिक इतिहास नहीं है. अभी दूसरे जिलों में उसके अपराध के बारे में छानबीन की जा रही है. एसएसपी ने बताया कि ऋतुराज हथियार रखने का शौकीन है.

ये भी पढ़ें नीतीश का नया तुगलकी फरमान, तेजस्वी ने कहा नीतीश हैं डरे हुए

उपेन्द्र शर्मा ने बताया कि इंडिगो मैनेजर रूपेश की हत्या में इस्तेमाल किए गए पिस्टल और बाइक को बरामद कर लिया गया है. उन्होंने बताया कि ऋतुराज हत्या कि घटना के बाद कुछ दिनों के लिए रांची भाग गया था. इस हत्याकांड में संलिप्त ऋतुराज के अन्य साथियों की खोज की जा रही है.

मीडिया से बात करते हुए आरोपी ऋतुराज ने कहा कि उसकी रूपेश सिंह के साथ एक बार दुर्घटना हुई थी. इस पर रूपेश सिंह ने मेरी (ऋतुराज की) 29 नवंबर को बहुत पिटाई की थी. इसी कारण मैंने गुस्से में रूपेश को मार डाला.

ऋतुराज ने बताया कि वह लगभग डेढ़ महीने से रूपेश कुमार सिंह को मारने की कोशिश कर रहा था. उसने 4 से 5 राउंड फायर कर रूपेश सिंह को मार डाला.

बता दें कि इससे पहले राज्य के डीजीपी सिंघल ने बताया था कि रूपेश की हत्या एयरपोर्ट पार्किंग के ठेके को लेकर की गई है. उसके बाद पुलिस ने ठेके के एंगल से पूरे मामले की तहकीकात भी की, लेकिन उसके हाथ कुछ नहीं लगा.

रूपेश हत्याकांड की जांच के लिए बिहार सरकार ने स्पेशल टास्क फोर्स (एसआईटी) का गठन किया था. एसआईटी ने कई विभागों में जाकर पूछताछ भी की थी. साथ ही पटना पुलिस और सीआईडी भी मामले की तहकीकात कर रही थी.