नालंदा में अपराधी बेखौफ, रिटायर्ड टीचर को बंदी बना की चोरी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | नालंदा इलाके के हिलसा थाना इलाके के बिहारी रोड स्थित शिवनगर मुहल्ले में बदमाशों ने एक रिटायर्ड शिक्षक को बंधक बना कर उन्ही के घर में भीषण लूट की घटना को अंजाम दिया है. बदमाशों ने घर से 2 लाख रूपए नगद सहित दस लाख की संपत्ति पर हाथ साथ कर दिया है.

शिक्षा रामानुज शर्मा रिटायर्ड होने के बाद हिलसा- नूरसराय मुख्या मार्ग के सटे शिवनगर मोहल्ला में मकान बनाकर पूरे परिवार के साथ रहते हैं. कुछ दिनों पहले छठ व्रत करने परिवार सहित अपने पैतृक गांव नदहा चले गए थे. लेकिन घर की रखवाली करने के लिए रामानुज शर्मा हर रोज शाम को हिलसा अपने मकान में आ जाया करते थे. शुक्रवार की शाम को भी करीब 7 बजे अपने पुत्र राजू कुमार के साथ मोटर साइकिल पर बैठकर आये. उसके बाद पुत्र लौट गया. रामानुज शर्मा घर बैठकर टीवी देखने के लिए चालू ही किया की चंद मिनटों में 5-6 की संख्या में हथियार से लैस बदमाश दरवाजे को धक्का देते हुए कमरे में घुस गए.

रामानुज कुछ समझ पाते इससे पहले ही बदमाशों ने पिस्तौल के बट से प्रहार कर दिया. जिससे वह जख्मी होकर जमीन पर गिर गए. उसके बाद बदमाशों ने शिक्षक के हाथ-पैर और आँख पर पट्टी बांधकर अंदर के कमरे में ले जाकर लिटा दिया. उसके बाद घर के चार कमरे में रखे गोदरेज, पलँग वॉक्स, आलमीरा, बक्सा आदि को पूरी तरह से खंगाल दिया.

इस दौरान अपराधी करीब दो घण्टे तक तांडव मचाते रहे, लेकिन अगल बगल वालों को घटना की भनक तक नहीं लगी. घटना के सबन्ध में पीड़ित के द्वारा अज्ञात के विरुद्ध हिलसा थाना में आवेदन दे दिया गया हैं. पुलिस मामले की जांच पड़ताल करने में जुटी है.

शनिवार की सुबह छठ घाट पर जाने के लिये राजू कुमार अपने पिता को ले जाने के लिये हिलसा स्थित अपने आया तो बाहर से दरवाजा बन्द था. आवाज देने के बाद लुढ़कते हुए रामानुज खिड़की के पास पहुंचे. फिर उन्होंने अपने बेटे से कहा कि बोले ग्रिल फांद कर अंदर आ जाओ, हम संकट में पड़े हुए हैं. पिता की बातों को सुन राजू सिहर गया. दरवाजा खोलकर खून से लथपथ पिता और घर में बिखरे पड़े सामान को देख दंग रह गया. फिर बेटे ने पहले मोटरसाइकिल से ले जाकर पिता का इलाज करवाया, उसके बाद घटना की जानकारी पुलिस को दी.

वारदात के दौरान रिटायर्ड शिक्षक रामानुज शर्मा का मोबाइल बदमाशों ने अपने कब्जे में ले लिया था. घटना को अंजाम देने के बाद बदमाशों ने रामानुज शर्मा के मोबाइल को फेंक दिया था जिसे पुलिस द्वारा रामानुज के घर से कुछ दूरी पर गड्ढे में फेंका हुआ पाया गया.