राकेश दूबे ने सेवाकाल में वेतन खाता को लगभग छूआ तक नहीं, ऊपरी आमदनी से चल रही थी जिंदगानी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| गुरुवार को अवैध बालू उत्खनन मामले में आईपीएस अधिकारी, भोजपुर के पूर्व एसपी राकेश दूबे के चार ठिकानों पर इओयू ने छापेमारी की. मिली जानकारी अनुसार अपने सेवा काल में पद का दुरुपयोग कर पूर्व एसपी ने कई जगह जमीन, फ्लैट, दुकान, भू-खण्ड आदि अर्जित किए हैं. इस काम के लिए उन्होंने परिजनों, मित्रों, व्यवसायिक सहभागियों और अन्य के माध्यम से मनी लाउड्रिंग (धन शोधन) कर काले धन को सफेद बनाने का भी प्रयास किया है.

किया है कई कम्पनियों में नकद राशि का निवेश

छापेमारी के दौरान ये बात सामने आई कि उनके द्वारा पटना और देश के कई अन्य शहरों में रियल इस्टेट कम्पनियों में बड़ी मात्रा में निवेश किया गया है. सूचनानुसार उन्होंने आईपीसी इन्फ्रास्ट्रक्चर देवघर, रांची कामिनी इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रा.लि (निदेशक, जावेद खान), पाटलीपुत्रा बिल्डर्स (निदेशक, अनिल कुमार), ख्याति कन्स्ट्रक्शन, मैक्स ब्लिफ नोएडा, उत्तर प्रदेश (प्रोपराईटर, अजय शर्मा), बिल्ड कॉन और कई अन्य बिल्डर्स के साथ उनकी कम्पनियों में नकद राशि के निवेश कर रखे हैं.

Also Read| अवैध बालू खनन मामले में पहली बार किसी आईपीएस अधिकारी के घर ईओयू का छापा, 2.56 करोड़ की प्रॉपर्टी का खुलासा

अपने मां और बहन के नाम से भी कई संपत्ति

छापेमारी के दौरान पूर्व एसपी के विभिन्न बिल्डर्स से व्यवसायिक संबंध होने के साक्ष्य मिले हैं. आज की तलाशी के क्रम में उनके द्वारा ख्याति कंस्ट्रक्शंस के बैंक खाते में 25 लाख रुपये हस्तान्तरित किए जाने का साक्ष्य पाया गया है. उनके द्वारा अवैध तरीके से कमाये हुए करोड़ों रुपये सूद (ब्याज) पर लगाये गए हैं. फुलवारी शरीफ में अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी के पद पर पदस्थापन के दौरान काफी जमीन क्रय किए जाने की सूचना है. उनके मां और बहन के नाम से भी कई चल और अचल परिसम्पत्तियों के होने की जानकारी मिली है, जिसका सत्यापन एवं अनुसंधान किया जा रहा है.

सेवाकाल में वेतन खाता से निकासी लगभग नहीं के बराबर

जसीडीह, देवघर, झारखण्ड में सचिन्द्र रेसिडेन्सी नामक होटल, सुखदानी रेस्टोरेंट और एक मैरेज हॉल के निर्माण में भी पूर्व एसपी की अवैध कमाई निवेशित हैं. वहीं, उनके द्वारा स्वयं और अपनी पत्नी के नाम पर म्यूचुअल फंड में करीब 12 लाख रुपये निवेश किये गये हैं. दुबे द्वारा अपने सेवा काल में वेतन खाता से नकद रुपये की निकासी को लगभग नगण्य पाया गया है.

मिली जानकारी अनुसार पूर्व एसपी द्वारा आय के ज्ञात और वैध स्रोतों से करीब 2,55,49,691 रुपये से अधिक की परिसम्पत्तियां अर्जित किए जाने के साक्ष्य अबतक मिले हैं. इसके साथ ही तलाशी में कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए हैं, जिसके संबंध में आगे विश्लेषण करते हुए अन्वेषण किया जायेगा. बता दें कि छापेमारी के संबंध में विभाग की ओर से जारी विज्ञप्ति में ये सारी जानकारी दी गई है.
(सौ:एबीपी)