राजधानी में आपराधिक घटनाओं के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| पूरे राज्य में दिनोंदिन बढ़ रहे अपराध पर आम जनता त्रस्त हो गई है. पुलिस की अक्षमता को देखते हुए अब जनता सड़क पर उतरने को मजबूर हो गई है. राजधानी की बात करें तो यहां अपराधियों का मनोबल सातवें आसमान पर पहुंच चुका है. यहां दिनदहाड़े हत्या, लूट आदि की घटनाएं लगातार घट रही हैं.

पिछले दिनों पटना सिटी में हुए व्यवसाई की हत्या और लगातार हो रहो चोरी की घटनाओं ने लोगों को परेशान कर दिया है. इन घटनाओं पर आक्रोशित व्यवसायियों ने पटना सिटी के मोर्चा रोड इलाके में रविवार को जमकर हंगामा मचाया.

लगातार घट रही आपराधिक वारदातों से गुस्साये लोगों ने मोर्चा रोड इलाके में मेन रोड पर आवागमन को बाधित कर आगजनी किया. साथ ही गुस्साये व्यवसायियों ने नीतीश सरकार और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और हंगामा मचाया.

Also Read| राजधानी में चाणक्‍य की आदमकद प्रतिमा लगाने की मांग

रविवार को पटना सिटी के बिसनेस समुदाय के लोग नीतीश सरकार व पटना पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए विरोध मार्च निकाला जो मारुफगंज मोड़ से शुरू होकर अशोक राजपथ होते हुए शहीद भगत सिंह चौक पहुंचा. इस मार्च में शामिल व्यवसाई, राजू जायसवाल के हत्यारों की गिरफ्तारी और व्यवसायियों की सुरक्षा की मांग कर रहे थे.

ये लोग मृतक व्यवसाई राजू जायसवाल के परिवार को सरकारी नौकरी दिए जाने की भी मांग कर रहे थे. पटना में हो रहे हत्या, लूट, अपहरण, रेप, चोरी जैसे कई आपराधिक घटनाओं का व्यवसायियों ने विरोध जताया और जमकर प्रदर्शन किया. गुस्साये लोगों ने नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए राज्य की विधि व्यवस्था पर सवाल खड़े किए.

नहीं होती रात्री गश्ती

इस मार्च में भाग लेने वाले व्यवसाइयों ने कहा कि चौक थाना क्षेत्र में पुलिस द्वारा रात्रि गश्ती नहीं की जा रही है. इस कारण मोर्चा रोड में लगभग हरेक दिन दुकान के शटरों को काटकर अपराधी चोरी को अंजाम दे रहे हैं. इनलोगों का कहना था कि चोरी की हो रही घटनाओं के बावजूद स्थानीय पुलिस कुछ नहीं कर पा रही है.

पुलिस ने कहा कमजोर शटर है चोरी का कारण

पुलिस प्रशासन के खिलाफ इस विरोध मार्च में लोगों ने बताया कि अपराधियों ने एक ड्राइफ्रूट की दुकान का शटर काटकर काजू, किसमिस, समेत कई कीमती सामान ले गए जिनकी कीमत करीब 6 लाख रुपये होंगी. इस पर स्थानीय पुलिस ने कहा कि दुकान में शटर कमजोर था जिस कारण चोर आसानी से इसे काटकर चोरी कर ली.

आश्चर्य तब होता है जब पुलिस ने यह कहा कि यदि दुकान का शटर मजबूत होता तो चोरी नहीं होती. लोगों का कहना है कि पुलिस द्वारा दिए जा रहे ऐसे बयान उनकी नाकामी को प्रदर्शित करता है. पुलिस का यह बयान भी व्यवसाइयों में गुस्सा भरने को काफी है.

बहरहाल, इस विरोध मार्च के माध्यम से पटना सिटी के व्यवसायी वर्ग ने अपना आक्रश व्यक्त कर दिया है. राज्य सरकार और पुलिस प्रशासन से उनकी मांग है कि इन घटनाओं में लिप्त अपराधियों कि जल्द से जल्द गिरफ़्तारी हो. साथ ही उन्होंने मांग की है कि पुलिस द्वारा क्षेत्र में रात के दौरान गश्ती की जाए.