पारस हॉस्पिटल की घटना पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने लिया संज्ञान

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राजधानी के एक बड़े हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती एक कोरोना संक्रमित एक महिला के साथ कथित रेप की घटना पर राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने संज्ञान लिया है. आयोग ने इस बावत बिहार के मुख्य सचिव और डीजीपी को पत्र लिखा है.

महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने पटना से छपने वाली एक अखबार की खबर शेयर करते हुए यह पत्र लिखा है. अध्यक्ष ने अपने पत्र में लिखा है कि मुख्य सचिव लिखा है कि वे पटना जिला पुलिस तथा उक्त हॉस्पिटल को आवश्यक निर्देश के बारे में बताने को कहा है. साथ ही उन्होंने बिहार के डीजीपी को इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप करने को कहा है.

ज्ञातव्य है, सोमवार को एक लड़की ने शहर के बड़े हॉस्पिटल, पारस हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती कोरोना संक्रमित अपनी मां के साथ गैंगरेप का आरोप लगाया था. उक्त लड़की ने अपनी मां के बयान का वीडियो बनाकर अपने फेसबुक पेज पर डाला था. इस वीडियो में पीडिता ने आरोप लगाया था कि अस्पताल के ही कर्मचारियों ने उसके साथ गैंगरेप किया है.

बेटी का वीडियो वायरल होते ही पटना पुलिस फौरन एक्शन में आई और जांच के लिए शास्त्रीनगर थाने की महिला पुलिस अधिकारी के साथ अस्पताल पहुंची. शास्त्री नगर थानाध्यक्ष रमाशंकर ने बताया कि पीड़िता के साथ गलत हुआ है कि नहीं, अभी पुष्टि नहीं हो रही है. महिला आईसीयू में भर्ती है.

आप यह भी पढ़ेंपटना: प्राइवेट अस्पताल में कोरोना संक्रमित महिला से गैंगरेप का आरोप

उधर, वीडियो वायरल होने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि आईसीयू में इलाज के दौरान महिला के साथ बदसलूकी का आरोप लगाया गया है. आंतरिक जांच में पाए गए तथ्यों के आधार हम आरोपों का खंडन करते हैं. हालांकि, पुलिस जांच कर रही है और हमने जांच में पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है. उक्त महिला के आरोप बिल्कुल गलत हैं क्योंकि आईसीयू में 24 मरीज हैं. उसके अलावा वहां कुछ स्टाफ भी रहते हैं. इसलिए रेप जैसी घटना विश्वास से परे है.