JDU नेता गिरफ्तार, कोरोना स्क्रीनिंग के विरोध का आरोप

नालंदा (TBN रिपोर्ट) :- बिहार सरकार कोरोना से निपटने के लिए तमाम प्रयास कर रही है. लेकिन कुछ लोग राज्य सरकार के प्रयासों को विफल करने में लगे हैं. कभी लोग सरकार द्वारा दिशा निर्देशों का पालन न करते हुए लॉकडाउन तोड़ने की कोशिश करते हैं और कभी कोरोना को हराने में लगे हुए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किये गए कार्यों में अड़चन पैदा करते हैं.

ऐसा ही एक ताज़ा मामला सिलाओ से सामने आया है जिसके अनुसार कोरोना स्क्रीनिंग के दौरान एएनएम और सेविका के साथ बसलूकी करने के आरोप में जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के मंडल नगर अध्यक्ष को सिलाव पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

खबर के अनुसार स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए हर घर को स्क्रीनिंग कराया जा रहा है. लेकिन होम स्क्रीनिंग करने पहुंची एएनएम और आंगनबाड़ी की सेविका के साथ जदयू के मंडल नगर अध्यक्ष सत्येंद्र चौधरी द्वारा पहले तो बदसलूकी की गयी और जब महिला वहां से भाग कर एक घर में जा छिपी, तो उस घर से भी जदयू नेता ने महिलाओं को निकाला चाहा.

इस प्रकार की घटना के बाद स्क्रीनिंग कर रही आंगनबाड़ी की सेविका ने सिलाव सीडीपीओ को फोन पर सूचना दी जिसके बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत सीडीपीओ ने सिलाव थाना की पुलिस के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर जदयू नेता को हिरासत में ले लिया और दुबारा से स्क्रीनिंग का काम शुरू कराया गया. 

बता दें बिहार में पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम पर लगातार होते हमलों को देखते हुए बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने पिछले दिनों चेतावनी देते हुए कहा था कि, “हमला करने वाले कोई भी हो उसको वह छोडेंगे नहीं. उसको जेल में सड़ा देंगे”. इसके साथ ही डीजीपी ने कहा था कि, “हमला करने वाले कोई भी वह किसी भी जाति के हो उनको छोड़ेंगे नहीं. चाहे वह किसी पार्टी के ही क्यों न हो. कोई पैरवी काम नहीं आएगा.

Advertisements