तबलीगी जमात पर बिहार सरकार की सख्ती

पुलिस ने कसा शिंकजा
पटना में पकडे गये जमात के 17 लोंगों को भेजा गया जेल

Jamatis arrested

पटना (टीबीएन डेस्क) । पटना में मार्च के तीसरे सप्ताह में करीब डेढ दर्जन विदेशी पकडे गये थे, सभी तबलीगी जमात से लौटे थे और पटना के अलग अलग इलाको में छिपे थे. पुलिस ने सभी को डिटने किया और तत्काल एम्स में जांच भी करवाया गया. जांच में किसी तरह का सिस्टम नहीं मिलने पर भी, सभी को कोरेनटाइन किया गया था. पटना पुलिस ने इनलोगों पर प्राथमिकी दर्ज किया है सभी को जेल भेजा गया.

दरअसल 23 मार्च को दीघा और फुलवारी क्षेत्र में कुल 17 विदेशी पकड़े गए थे. सभी के पास किर्गिस्तान का पासपोर्ट था और टूरिस्ट वीसा पर भारत आए थे. पर तबलीगी जमात के लोगों की वजह से कोरोना संक्रमण बढने औऱ मौत भी होने से राज्य सरकार ने इनलोगों की दूबारा जांच कराया गयी जिसमें सभी के रिपोर्ट निगेटिव मिले थे.

पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक उपेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि इनलोगों पर एफआईआर दर्ज किया गया. इन सभी विदेशियों पर केन्द्रीय गृह मंत्रालय के गाइडलाइंस का उल्लंघन का आऱोप है. सभी लोग टूरिस्ट वीजा पर थे और अलग-अलग धार्मिक स्थल पर धार्मिक कार्यक्रमों में शामिल हो रहे थे.

वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सभी लोगों पर वीजा के कंडीशन के उल्लंघन क आऱोप हैं. उसके साथ सेक्शन 14 B फोरेनर एक्ट के तहत इनलोगों का एफआईआर दर्ज किया गया. इन्होंने ने पटना या आसपास के क्षेत्रों में फिलहाल किसी औऱ विदेशी के छिपने की खबर का खंडन किया.