पटना पुलिस का अमानवीय चेहरा, बच्चे पर फेंका खौलता चाय

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| सोमवार रात राजधानी पटना में स्थानीय पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया जब एक पुलिस वाले ने एक लड़के के पैर पर खौलता चाय फेंक दिया. इससे पीड़ित सूरज के दोनों पैर बुरी तरह जल गए.

बात राजधानी के हड़ताली मोड़ स्तिथ पंत भवन के पास की है. पंत भवन के नीचे चाय बेच कर जीवन यापन करने वाला सूरज कुमार सोमवार रात अपने दुकान पर था. उसी समय एक बोलेरो आई जिसमें कुछ पुलिसकर्मी बैठे थे. गाड़ी पर बैठे सूरज से चाय सिगरेट और गुटके की मांग की. जब पुलिस वालों की बात नहीं मानी गई तो उन्होंने आग पर खौलती केतली भरी चाय को सूरज के ऊपर फेंक दिया. इतना ही नहीं, पुलिस वाले ने पीड़ित के चाचा की भी पिटाई कर दी.

पीड़ित सूरज का कहना है कि बीती रात साढ़े 10 बजे एक बोलेरो में बैठे कुछ पुलिसकर्मी आए और अचानक हमारे चाचा को पीटने लगे और चाय सिगरेट और गुटके की मांग की. साथ ही वे दुकान बंद करने को भी कही. सूरज ने कहा, “हम दुकान बंद कर ही रहे थे कि खौलते हुए चाय की केतली पर पुलिस ने लात मारी और मेरे पैर पर खौलती हुई चाय फेक दिया. उसके बाद मै दर्द से छटपटाने लगा. आसपास के लोग दुकान पर जुट गए जिसको देख पुलिस वहां से भाग गई.

सूरज के अनुसार, बोलेरो गाड़ी पर श्रीकृष्णापुरी थाना लिखा हुआ था. वहीं, एक प्रत्यक्षदर्शी महिला ने बताया कि बोलेरो से पुलिस आई और बिना बोले दुकानदार को मारने लगी. इस दौरान पुलिस ने खौलती चाय की टोकरी पर पुलिस पैर से मारा जो बच्चे के पैर पर जा गिरा. देर रात घायल लड़के को इलाज के लिए गार्डनर रोड हॉस्पिटल ले जाया गया.

Also Read| नीतीश अगर पीएम बनें तो नहीं होगी संख्या बल की कमी; कुशवाहा की बीजेपी नेताओं को दो टूक

पीड़ित सूरज की मां का कहना है, “यदि सरकार ऐसा करेगी तो हमलोग क्या खाएंगे. जब दुकान बंद ही करवाना था तो पुलिस हमलोगों को कम से कम पांच मिनट का समय तो देती. इस तरह से पैर तो नहीं जलाना चाहिए था”.

इस बावत जब श्रीकृष्णापुरी थाने पहुंच कर पूछा गया तो वहां उपस्थित एक पुलिसकर्मी ने बताया कि थानेदार साहेब नहीं हैं, आप फ़ोन पर बात कर लीजिए. वहीं दूसरी ओर श्रीकृष्णापुरी के थानेदार एसके सिंह ने बताया कि ऐसी कोई बात नहीं है. उन्होंने कहा कि हो सकता है पुलिसवाले दुकान बंद करवाने गए हों लेकिन हमारे पुलिसकर्मी ने ऐसा नहीं किया होगा.

इस मामले पर पटना के सीनियर एसपी उपेन्द्र शर्मा ने कहा कि उन्हें सारी घटना की जानकारी मीडिया से मिली है. उन्होंने इस मामले की जांच का हवाला दिया है.