नालन्दा: डॉक्टर के बदले कंपाउंडर ने किया ऑपरेशन, जच्चा-बच्चा की हुई मौत

नालन्दा (TBN – सूरज कुमार की रिपोर्ट)| नालंदा (Nalanda) के बिहारशरीफ (Biharsharif) स्थित एक निजी अस्पताल की लापरवाही के कारण जच्चा-बच्चा की शुक्रवार को मौत हो गई. मृतका सरमेरा थाना क्षेत्र के सरमेरा निवासी रवि किशन की पत्नी सीता देवी थी.

परिजनों ने बताया कि गुरुवार की शाम सीता देवी को लेबर पेन हुआ जिसके बाद उसे स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरमेरा (PHC Sarmera) में भर्ती कराया गया. उसकी स्थिति को देखते हुए वहां से देर रात बिहारशरीफ सदर अस्पताल (Biharsharif Sadar Hospital) रेफर कर दिया गया.

जब मृतका के परिजन उसे लेकर सदर अस्पताल पहुंचे तो वहां दलालों ने उन सबको अपने चंगुल में फंसा लिया. उसके बाद मरीज को लहेरी थाना क्षेत्र के मामू भागना स्थित ब्लूस्टार अस्पताल (Blue Star Hospital, Biharsharif) में भर्ती करा दिया गया. इस अस्पताल में देर रात 2:00 बजे ही डिलीवरी के बाद जच्चा-बच्चा दोनों की मौत हो गई.

कंपाउंडर और एक सहायक ने किया ऑपरेशन

परिजनों ने बताया कि अस्पताल में डॉक्टर की जगह कंपाउंडर और एक सहायक ने ऑपरेशन कर दिया जिसके बाद मरीज की तबीयत बिगड़ती चली गई. अंत में जच्चा-बच्चा दोनों की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें| पूजा में गया-नई दिल्ली के बीच फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन का परिचालन

मौत की सूचना लहेरी पुलिस को दी गई. मौके पर थानाध्यक्ष दल बल के साथ जांच में जुट गए. वहीं सदर अस्पताल वाले प्रकरण में जब सिविल सर्जन डॉ सुनील कुमार से बात की गई तो उन्होंने कहा कि बिहारशरीफ सदर अस्पताल में हर दिन सिजेरियन और डिलीवरी हो रही है. निजी क्लिनिक और कुछ दलालों के कारण ऐसी घटनाएं होती हैं.