आईआईटी खड़गपुर का छात्र पटना से हुआ गिरफ्तार, साइबर स्टॉकिंग का है आरोप

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को बिहार के पटना से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) खड़गपुर के एक छात्र को दिल्ली के एक प्रतिष्ठित स्कूल की नाबालिग लड़कियों का साइबर स्टॉकिंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया. वह स्कूल की 50 से अधिक छात्राओं और महिला टीचर को सोशल नेटवर्किंग साइट के जरिए ब्लैकमेल करता था.

आरोपी की पहचान पटना निवासी महावीर के रूप में हुई है, जो आईआईटी खड़गपुर में बीटेक का छात्र है. उसके पिता टॉर्च बनाने की फैक्टरी चलाते हैं.

पुलिस द्वारा साझा की गई जानकारी के अनुसार, आरोपी नाबालिग लड़कियों से संपर्क करने और उन्हें परेशान करने के लिए वर्चुअल नंबरों के साथ फर्जी कॉल करने के लिए हाई-टेक ऐप का इस्तेमाल कर रहा था.

पुलिस ने कहा, “उसने महिला परिचितों से संपर्क करने के लिए नाबालिग लड़कियों के फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट बनाए. साथ ही उसने विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उनकी मॉर्फ्ड अश्लील तस्वीरें भी प्रसारित कीं.”

पुलिस द्वारा की गई जांच के अनुसार, आरोपी ने पिछले तीन वर्षों से 33 वर्चुअल नंबरों का उपयोग करके 50 से अधिक लड़कियों को परेशान किया है.

यह भी पढ़ें| बिहार में इनकी नौकरी अब 60 साल तक पक्की, मिलेंगी ये सुविधाएं भी

पुलिस के अनुसार, दिल्ली में साइबर सेल और सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन के कर्मचारियों की एक टीम ने महावीर को पटना में उनके आवास से पकड़ा. मामले में आगे की जांच की जा रही है.

उत्तर ज़िला साइबर सेल, दिल्ली के डीसीपी सागर सिंह कलसी ने कहा कि सिविल लाइन थाने से हमें अगस्त में एक स्कूल से शिकायत मिली कि कुछ स्टूडेंट्स को इंटरनेशनल नंबर से कॉल और SMS से परेशान किया जा रहा है. लड़कियों को फोटोग्राफ से ब्लैकमेल किया जा रहा था. एक शख़्स को पकड़ा हैं, हमें सबूत भी मिले हैं.

कलसी ने बताया कि स्कूल की तरफ से पुलिस को अगस्त में शिकायत मिली कि एक अंजान शख्स ऑनलाइन कक्षाओं में अवैध तौर पर घुस जाता है. वह छात्राओं को ब्लैकमेल करता है और स्कूल के व्हाट्सएप ग्रुप के प्रोफाइल लोगो एवं अन्य सेटिंग्स में परिवर्तन कर देता है.

डीसीपी ने बताया कि इंस्पेक्टर संजीव कुमार की देखरेख में साइबर सेल प्रभारी एसआई रोहित सारस्वत को मामले की जांच सौंपी गई. इस बीच एक छात्रा ने भी थाने में शिकायत दी. फिर एसआई रोहित सारस्वत और एसआई रोहित भारद्वाज ने स्कूल की छात्राओं से बात की तो कुछ आईपी अड्रेस मिले. पुलिस ने व्हाट्सएप से भी आईपी अड्रेस लिए. इसके आधार पर पुलिस महावीर कुमार तक पहुंची. अंततः एसआई प्रवीन यादव और एसआई रोहित ने पटना से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.