रं’गदारी न देने पर स्वर्ण व्यवसायी पर गो’लियों की बौछार

 

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)| बिहार में अप’राधियों के हौसले इतने ज्यादा बुलंद हैं कि वो दिन द’हाड़े अ’पराध करने से भी नहीं चूक रहे हैं. ताज़ा घटना शुक्रवार को पटना में घटित हुयी जिसमे बद’माशों ने बाबा ज्वेलर्स के मालिक आलोक रंजन की दुकान पर धा’वा बोलकर स्वर्ण व्यवसायी आलोक रंजन पर गो’लियों की बौछार कर दी. बद’माशों की संख्या 9 बतायी जा रही है जो 3 बाइकों पर सवार होकर आये थे. बद’माशों ने व्यवसायी को 5 गो’लियां मारी जिसमे 4 गो’ली सिर में और 1 गो’ली सीने में मारी. स्वर्ण व्यवसायी की ह’त्या को अंजाम देकर बेखौ’फ अप’राधी बेधड़क होकर आराम से ब’म फेंकते हुए फ’रार हो गए. ह’त्या के पीछे का कारण बद’माशों को रंग’दारी न देना बताया जा रहा है. फिलहाल पु’लिस मामले की जांच में जुटी है.

मिली जानकारी के अनुसार पटना के मथनीतल के पास बाबा ज्वेलर्स के नाम से एक दुकान है जिसके मालिक स्वर्ण व्यवसायी आलोक रंजन उम्र करीब 47 साल, रोज़ाना की तरह अपने एक स्टाफ के साथ बैठे हुए थे. शाम करीब 4:45 बजे अचनाक से 3 बाइकों पर सवार 9  बद’माशों का झुंड दुकान में  घुसा और उन पर गो’लियों से ह’मला कर दिया. इस हमले में आलोक रंजन की मौके पर ही मौ’त हो गयी. हत्या के पीछे का कारण बताते हुए मृतक के चचेरे भाई सुनील कुमार मिश्र ने बताया कि ” करीब दस दिन पहले किसी अज्ञात ने फोन कर रंग’दारी की मांग की थीऔर उनसे मिलने के लिए कहा था. इस बात की जानकारी भैया ने घर में किसी को नहीं दी थी. सिर्फ उत्पाद विभाग में कार्यरत अपने बड़े भैया को बताया था”.

ह’त्या के मामले में जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष टी एन तिवारी ने बताया कि “बाइक पर आए बद’माशों का इरादा लू’टपाट करने का नहीं था. दुकान में आते ही बदमाशों ने आलोक रंजन मिश्र पर गो’लियां बरसानी शुरू कर दीं. ह’त्या के कारण का पता नहीं चल सका है”. इसके साथ ही एएसपी मनीष कुमार का कहना है कि “अप’राधी की संख्या का अभी पता नहीं चल सका है. पु’लिस पूरे मामले की जांच में जुटी है”.

बाबा ज्वेलर्स के मालिक आलोक रंजन की ह’त्या से गु’स्साए व्यवसायियों ने ह’त्या का विरोध जताते हुए बाजार बंद रखा. शनिवार को मथनी तल से मोर्चा रोड की ज्यादातर दुकानें बंद रहीं. महेंद्रू से लेकर कटरा बाजार तक के 432 स्वर्ण व्यवसायियों द्वारा ह’त्या के वि’रोध में सुरक्षा की मांग को ले दोपहर पूर्वी एसपी जितेंद्र कुमार को चौक थाना में ज्ञापन सौंपा गया.

आलोक रंजन की भरे बाजार में सरेआम हुई ह’त्या से पूरे इलाके में स’नसनी फैल गई. ह’त्यारों की हिम्मत देख लोगों में खौ’फ का माहौल कायम हो गया. ह’त्या को लेकर परिवारजन, व्यवसायी और शहरवासियों में रो’ष है सभी लोग पु’लिस प्रशासन पर सवाल उठा रहे हैं.