प्रेमी प्रेमिका हुए फरार, प्रेमिका के परिजनों ने प्रेमी की मां के काटे बाल

प्रेम प्रसंग में प्रेमी युगल हुए फरार
लड़की पक्ष के लोगो ने लड़के के मां को बनाया आठ घंटो तक बंधक
महिला के बाल भी काटे
आठ घंटो बाद महिला को पुलिसकर्मियों ने कराया मुक्त
अस्थावां थाना क्षेत्र के शेरपुर गांव की घटना

अस्थावां / नालंदा (TBN – The Bihar Now डेस्क)| अक्सर आपने फिल्मों में यह देखा होगा कि विलेन के द्वारा यह कहा जाता है की लड़की लेकर आओ तब हम लड़के को वापस करेंगे. यह किसी फिल्मी स्टाइल को अस्थावां थाना क्षेत्र इलाके के शेरपुर गांव ने चरितार्थ किया है.

गौरतलब है कि शेरपुर गांव के ही एक युवक और युवती आपस में प्रेम प्रसंग चल रहा था. दोनों के प्रेम प्रसंग का परवान इतना चढ़ गया कि समाज के ठेकेदारों की चिंता ना करते हुए दोनों प्रेमी युगल अपने-अपने घर छोड़कर भाग गए.

घटना की जानकारी मिलते ही शेरपुर गांव में यह बात आपकी तरफ फैल गई. लड़के द्वारा लड़की को भगाने की बात लड़की पक्ष को इतना बुरा लग गया कि लड़की पक्ष के लोगों ने दबंगई करते हुए लड़के पक्ष की मां को घर से उठाकर अपने घर में नौ घंटो तक बंधक बनाया और उसके ऊपर कई तरह के जुल्म ढाए.

यह भी पढ़ें आपछपरा: अपराध की बड़ी साजिश नाकाम, 2 कुख्यात समेत आधा दर्जन क्रिमिनल दबोचे गए

लड़की पक्ष के लोगों ने लड़के की मां के सिर के बाल काटे और गांव की गलियों में भी घुमाया. लड़की पक्ष के लोगों का पुलिस से यही डिमांड था की मेरी बेटी को लेकर आओ तभी हम बेटी के एवज में लड़के के मां यानी महिला को रिहा करेंगे.

हालांकि इस घटना की भनक जैसे ही अस्थावां थाना पुलिस को लगी. अस्थावां थाना पुलिस सैकड़ों पुलिसकर्मियों के साथ शेरपुर गांव में 9 घंटे से बंधक बनी महिला को छुड़ाने में जुट गई.

करीब 9 घंटे तक पुलिसकर्मी और गांव वालों के बीच आंख मिचोली का खेल चलता रहा. सबसे बड़ी बात यह कि 9 घंटे तक महज कुछ ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को भी मूकदर्शक बना कर गांव के अंदर ही खड़ा रखा.

अंततः अस्थावां प्रखंड के जिला परिषद सदस्य बालमुकुंद कुमार की पहल पर 9 घंटे से बंधक बनी महिला को छुड़ाया गया.

हालांकि इस घटना के बाद पूरे गांव में तनाव का माहौल देखा जा रहा है. एहतियातन के तौर पर गांव में सुरक्षा बलों की तैनाती भी की गई है. वहीं इस संबंध में डीएसपी सदर डॉ शिब्ली नोमानी ने घटना की जांच उपरांत कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है.