शराब, बारबालाओं के डांस, फिर जमकर मारपीट

मुज़फ़्फ़रपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शराब पीकर बारबालाओं के साथ डांस की, फिर उसके बाद जमकर मारपीट हुई. जी हां, यह वाकया एक वायरल हुए वीडियो (Viral Video) में दिखाया गया है. 02 मिनट 23 सेकेंड का वायरल हुआ यह वीडियो मुज़फ़्फ़रपुर (Muzaffarpur) जिले के मनियारी (Maniyari PS) थाना क्षेत्र की छितरौली गांव (Chhitrauli Village) से बाहर आया है.

बताया जाता है कि छठ पर्व (Chhatha Festival) संपन्न हो जाने के बाद गुरुवार की रात छितरौली गांव में शराबबंदी (Prohibition) और पुलिसिया पहरे के बावजूद एक आर्केस्ट्रा का आयोजन किया गया था. देर रात तक ऑर्केस्ट्रा के दौरान ही अश्लील गानो के साथ बारबालाओं के ठुमके लगते रहे. साथ ही स्टेज पर ही जाम छलकने लगा.

इस आर्केस्ट्रा में गाना और डांस कर रही डांसर के साथ स्टेज पर डांस करने को लेकर जमकर लाठी डंडे चले. कहा जा रहा है कि डांसर नशे में थी और भोजपुरी गीत-संगीत की धुन पर स्टेज पर ठुमके लगा रही थी. वहीं, हंगामा कर रहे लोग भी नशे में थे.

इसी बीच नशे में धुत कुछ युवक स्टेज पर चढ़ गए और डांसर के साथ डांस करने और अपनी मनपसंद गाना गाने की फरमाइश करने लगे. इसका मंच के नीचे खड़े कुछ युवकों ने विरोध किया. इसपर दोनों पक्षों में झड़प होने लगी. बीच-बचाव कर मामला शांत करा दिया गया और फिर दोबारा कार्यक्रम शुरू हुआ.

हालांकि, कुछ देर के बाद लाठी-डंडे से लैस दूसरे पक्ष के लोग वहां पहुंचे और जमकर लाठियां बरसाई. इससे वहां भारी अफरातफरी मच गई. जान बचाने के लिए लोग आसपास के घरों में छिप गए. बवाल को देखते हुए कार्यक्रम को बंद करा दिया गया.

जानकारी के मुताबिक, नशे में धुत होकर बार बालाओं के साथ ठुमके लगाने व मारपीट का किसी ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. इसके बाद यह मामला पुलिस के संज्ञान में आया. इस आर्केस्ट्रा के आयोजन के लिए प्रशासनिक की अनुमति भी नहीं ली गई थी. साथ ही इसमें कोरोना प्रोटोकाल का पालन भी नहीं किया गया था.

यह भी पढ़ें | मधुबनी: वेब पत्रकार की ह’त्या, बोरे में मिला अधज’ला श’व

बताते चलें, इसी मुज़फ़्फ़रपुर में पिछले सप्ताह 9 तारीख को कांटी थाना इलाके में छह लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हो गई थी. जिला प्रसाशन ने सभी थानाध्यक्षों को शराब की बिक्री पर रोक लगाने का निर्देश दिया था.

राज्य में शराबबंदी होने के बावजूद इसकी अवैध विक्री पर बिहार के डीजीपी और मुख्यमंत्री भी काफी गंभीर हैं. आगामी 16 नवंबर को नीतीश समीक्षा बैठक करनेवाले हैं. तमाम आदेशों के वावजूद जिले में इस तरह का वीडियो वायरल होने से पुलिसिया करवाई पर सवालिया निशान खड़ा हो गया है.

डीएसपी पश्चिमी अभिषेक आनंद ने बताया कि वायरल वीडियो को देखा गया है. थानेदार को आदेश दिया गया है कि वीडियो को देखकर चिन्हित लोगों पर कारवाई